Breaking News

मुश्किलों का सामना कर ऐसे हासिल किया मुकाम, खोला सम्पूर्ण डायग्नोस्टिक क्लिनिक

Posted on: 12 May 2018 10:19 by Ghamasan India
मुश्किलों का सामना कर ऐसे हासिल किया मुकाम, खोला सम्पूर्ण डायग्नोस्टिक क्लिनिक

इंदौर: पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ दोनों को कैसे अलग रखना है, ये एक महिला ही बहुत अच्छे से समझ सकती है। लेकिन जब बात मां के किरदार की आती है, तो सारी चीजे एक तरफ हो जाती है। बच्चों की परवरिश के लिए हर मुश्किल को पार और त्याग एक मां ही कर सकती है।8आज Ghamasan.com आपको शहर की एक ऐसी ही महिला के बारे में बताने जा रहा है, जिसने अपने बच्चों की परवरिश और उनके अच्छे भविष्य के लिए कई मुश्किलों का सामना किया है। हम बात कर रहे है शहर की सम्पूर्ण डायग्नोस्टिक साधना सोडानी की, जिन्होंने तमाम मुश्किलों के बाद भी अपनी जॉब नहीं छोड़ी और बच्चों की परवरिश भी की।9

चलाती है क्लिनिक-
साधना सोडानी जी सम्पूर्ण ‘सोडानी डायग्नोस्टिक क्लिनिक’ चलाती है। उन्होंने बताया कि इसमें सम्पूर्ण नाम ही इसलिए दिया गया है क्योकि यहां सारे केसेस एक ही छत के नीचे होते है। मध्यप्रदेश में उनके 17 सेंटर्स, जिसमे 4 सेंटर्स इंदौर में ही है। सोडानीजी क्लिनिक के अलावा शहर के ही महात्मा गांधी मेडिकल कॉलेज में भी जॉब करती है।10

ऐसे की बच्चों की परवरिश-
साधना जी के दो बच्चें है, हालाकि उन्हें दोनों बच्चों की शादी हो चुकी है। उनकी बेटी US में डिज़ाइनर है और बेटा उन्ही के साथ क्लिनिक का मैनेजमेंट संभालता है। उन्होंने बताया कि बहुत मुश्किलों में उनके बच्चे बड़े हुए है।12

दरअसल, जब वह पढ़ाई कर रही थी तभी उन्हें बच्चे हुए और उसी समय उन्होंने क्लिनिक भी शुरू किया था। ऐसे में उन्हें बच्चों को बड़ा करने में बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ा। साधना जी क्लिनिक के अलावा जॉब भी करती है। उन्होंने बताया कि कई बार वह अपने बच्चों को ड्यूटी पर लेकर जाती थी। सोडानीजी कॉलेज में नाईट ड्यूटी करती थी, ताकि वह दिन में बच्चों की देख-रेख कर सके।13

इतना ही नहीं साधना जी ने बताया कि कई बार उन्हें इमरजेंसी में अपने बच्चों को अपनी मम्मी के पास मायके भी भेजना पड़ा ताकि बच्चों की परवरिश अच्छी हो सके।

छोड़ दी थी पढ़ाई-
जॉब, क्लिनिक, पढ़ाई और बच्चों की परवरिश ये सब एकसाथ करना साधना जी के लिए थोड़ा मुश्किल हो गया था। ऐसे में उन्होंने बच्चों की पवारिश अच्छी हो सके इसलिए साधन जी ने अपनी पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई छोड़ दी थी।14

साधना जी कहना है कि पढ़ाई की कोई उम्र नहीं होती। उन्होंने उनके दोनों बच्चों के पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद अपना पोस्ट ग्रेजुएशन किया है आज उनकी उम्र 54 साल है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com