कुछ अनमोल चीज़े जो अब हुई जिंदगी से दूर, जानिए…

0
45
old vs new

हर पीढ़ी की अपनी एक कहानी होती है। आपने अपने माता-पिता को यह कहते हुए जरूर सुना होगा कि हमारे जमाने में ऐसा होता था…वैसा होता था। ऐसा ही कुछ हमारे जीवन में भी होता है कुछ चीज़े ऐसी होती हैं जिसे हम बाद में ही कर सकते हैं। दरअसल जमाना तेजी से बदल रहा है। बुद्धू बक्सा कहा जाने वाला टीवी अब स्मार्ट टीवी बन चुका है।

लैंडलाइन फोन की जगह मोबाइल आया था और अब स्मार्टफोन उपयोग हो रहा है। क्लास रूम अब स्मार्ट हो गए हैं। आज के वो युवा जिनका जन्म साल 2000 और 2001 के बीच हुआ है, अगले साल बीस वर्ष के हो जाएंगे। हम आपको कुछ ऐसे बदलावों के बारे में बता रहे हैं, जिनके बीच यह पीढ़ी पली-बढ़ी है।

ऐसी ही चीज़े जिनमें हुआ बदलाव –

  1. लैंडलाइन से मोबाइल तक का सफर पूरी तरह बदल चूका है। बता दे कि मोबाइल/वायरलेस उपयोगकर्ताओं की संख्या लगभग एक अरब हो चुकी है। युवा वर्ग स्मार्टफोन का बड़ा यूजर बनकर उभरा है।
  2. ऑरकुट से इंस्टाग्राम में हुआ बदलाव। पहले 2004 में गूगल ने ऑरकुट नाम की एक सोशल मीडिया सर्विस शुरू की थी जिसके बाद अब वो बंद हो कर अब इंस्टाग्राम का चलन हो चुका हैं। ऑरकुट का उपयोग दोस्ती, चैटिंग और फोटो शेयर करने के लिए होता था। इसके बाद आया फेसबुक और फिर ट्विटर। लेकिन युवाओं की पसंद इंस्टाग्राम है। इसकी वजह है इंस्टाग्राम का प्राइवेसी फीचर, जो युवाओं को पसंद है।
  3. कैमरा से सेल्फी तक सफर भी पूरी तरह बदल चूका है पहले कैमरा यूज़ करते थे लोग और अब एंड्रॉयड से सेल्फी का क्रेज़ बन चूका है। कैमरा का उसे यूज़ पूरी तरह खत्म तो नहीं हुआ लेकिन बहुत ज्यादा काम हो गया है।
  4. काली-पीली टैक्सी से ओला-उबर तक का सफर हुआ चेंज।
  5. डेटिंग भी हुई ऑनलाइन पहले के ज़माने में लोग मिला झूला करते थे अब सब चीज़े ऑनलाइन हो चुकी हैं। यहाँ तक की अब डेटिंग भी लोग फ़ोन के जरिये ऑनलाइन करने लग गए है।
  6. कम्प्यूटर पीसी नहीं अब लैपटॉप, टैबलेट बन चूका जरूरत।

कुछ चीज़े हैं जो बक्त के साथ आज भी नहीं बदली –

1. मतदान की उम्रः 18 साल की उम्र होने पर ही आप चुनावों में वोट डाल सकते हैं।
2. शराब पीने की कानूनी उम्रः देश के कुछ राज्यों में शराब पीने की वैध उम्र 21 वर्ष है तो कहीं 23 और 25 वर्ष। चुनिंदा केंद्र शासित प्रदेशों सहित कुछ राज्यों में यह आयु 18 साल भी है।
3. क्रिकेट और बॉलीवुड के लिए हमारा प्यार: भले ही मोबाइल एप पर मनोरंजन की बाढ़ आ गयी हो, लेकिन आज भी सिनेमा हॉल और मल्टीप्लेक्स के बाहर लगने वाली भीड़ कम नहीं हुई है। वहीं, क्रिकेट का बुखार तो मानो लगातार बढ़ता ही जा रहा है।
4. इंस्टेंट नूडल्स: 80 के दशक में भारत आया इंस्टेंट नूडल्स आज भी अपनी लोकप्रियता बनाए हुए है। जब भी बात आती है कुछ जल्दी बनाने और खाने की तो लोग इसी पर भरोसा करते हैं। अकेले रहने वाले और हॉस्टल में रहने वालों के लिए तो इंस्टेंट नूडल्स मानो वरदान की तरह है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here