Breaking News

अनाज का व्यापार छोड़ करने लगे समाज सेवा: कमलेश खण्डेलवाल

Posted on: 01 Jun 2018 10:58 by hemlata lovanshi
अनाज का व्यापार छोड़ करने लगे समाज सेवा: कमलेश खण्डेलवाल

इंदौर: अपने और अपनों के लिए तो सभी जीते हैं। समाज में कुछ ऐसे विरले लोग भी होते हैं, जो केवल अपने लिए नहीं समाज के लोगों के लिए ताउम्र जीते हैं। kamlesh ji 4आइए घमासान डॉटकॉम मिलवा रहा है इंदौर शहर की जानी-मानी शख्सियत संस्था सृजन के अध्यक्ष कमलेश खण्डेलवाल से। अनाज का व्यापार करने वाले कमलेश जी 14 सालों से समाज सेवा का कार्य कर रहे हैं। शहर के हर छोटे-बड़े आयोजन में अपनी उपस्थित दर्ज कराते है वहीं आर्थिक मदद करने में भी कभी पीछे नहीं रहते। टिफिन पार्टी की शुरूआत कर मालवा की परंपरा को लौटाया वहीं तीर्थ दर्शन यात्रा शुरू कर बुजुर्गों का आर्शिवाद प्राप्त किया। सभी धर्म के लोगों को एक साथ एक मंच पर लाने में सफल भी रहे। kamlesh ji 1
जो दिया है उसे ही लौटा रहा हूं
कमलेश जी ने बताया कि मैं कुछ नहीं करता। मुझे तो भगवान ने जो दिया है उसे ही लोगों की सेवा कर लौटा रहा हूं। मेरी कोशिश रहती है कि मैं हमेशा अच्छे कार्य करता रहूं। खैर अब अनाज का नहीं प्रॉपर्टी का बिजनेस है जिसे मेरे भाई संभालते हैं।kamlesh ji 2नई शुरूआत होनी चाहिए
सामाजिक कार्यों से जुड़े कमलेश जी ने बताया कि मालवा की परंपरा साथ बैठकर खाने की है,जो अब देखने को नहीं मिलती। हमारी संस्था द्वारा टिफिन पार्टी शुरू कर साथ बैठकर खाने की परंपरा को फिर से लौटाया। ​इसके साथ ही फाग यात्रा, तीर्थ दर्शन यात्रा, सामूहिक विवाह, गायों का सेवा कार्य, सकोरे वितरण,पर्यावरण संरक्षण, सभी धार्मिक आयोजन, तांबे के लोटे से पानी-पीने की शुरूआत करने से लेकर कई समाजिक बुराईयों को खत्म कर स्वच्छता और जागरुकता की अलख जगाने की कोशिश कर रहा हूं। तांबे के लोटे से पानी की पहल रंग लाई अब तो शादी से लेकर हर प्रोग्राम में तांबे के लोटे किराए से लेने आते हैं। इससे पानी की बचत होती है और गंदगी भी नहीं होती।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com