तो क्या अब इंदौर में ताई युग की समाप्ति हो जाएगी? | So will the end of the Tai era in Indore now?

0
48
sumitra mahajan

अर्जुन राठौर

इंदौर की सांसद रही सुमित्रा महाजन ताई ने लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा करके भारतीय जनता पार्टी में एक तरह से भूचाल ला दिया है। उनकी इस घोषणा से यह भी स्पष्ट हो गया है कि अब इंदौर में भारतीय जनता पार्टी की राजनीति के साथ ही इंदौर संसदीय क्षेत्र में ताई युग की समाप्ति हो जाएगी।

must read: सुमित्रा महाजन ताई ने अपने आप को चुनाव मैदान से क्यों हटाया | Why Sumitra Mahajan removed herself from the election field

ताई की पूरी राजनीतिक। जीवन यात्रा को मेरे द्वारा बहुत नजदीक से देखा गया है मैं जब दैनिक भास्कर में नगर प्रतिनिधि के पद पर कार्यरत था तब ताई एल्डरमैन के रूप में नगर निगम इंदौर की निगम परिषद की बैठक में शामिल होने आती थी और उस समय उनकी खास मित्र थी पार्षद पुष्पा जैन।

इसके बाद ताई का राजनीतिक जीवन प्रारंभ हुआ और उन्होंने पूरे देश में 8 बार संसद का चुनाव जीतने का रिकॉर्ड बनाया। ताई इतनी अधिक भाग्यशाली रही कि उनका लगभग पूरा जीवन संसद के गलियारों में ही गुजरा और अंत में उसी संसद के गलियारे में लोकसभा अध्यक्ष भी बनी।

must read: जब मोदी ने पूछा, राहुल को अमेठी से क्यों भागना पड़ा? | When Modi asked, why did Rahul run away from Ametoli?

हालांकि ताई इंदौर से एक पारी और खेल सकती थी लेकिन पार्टी हाईकमान द्वारा 75 पार के लोगों को टिकट नहीं देने का जो निर्णय लिया गया है उसी वजह से ताई के टिकट को लेकर असमंजस की स्थिति बनी रही और इसी असमंजस में ताई ने अपने आप को चुनावी मैदान से पीछे हटाने की घोषणा कर दी।

उनकी इस घोषणा के साथ ही इंदौर के भारतीय जनता पार्टी के राजनीतिक समीकरण पूरी तरह से बदल जाएंगे क्योंकि अब चुनावी मैदान में सिर्फ भाई ही रहेंगे ताई नहीं रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here