तो इसलिए नवरात्रि में मां आती है हाथी-घोड़े की सवारी पर

0
72

नवरात्रि में अब कुछ ही दिन बाकी हैं। हमारे पुराणों में बताया गया है कि माता नवरात्रि में हर साल अलग अलग वाहनों पर विराजमान रहती है, अपने भक्तों को आशीर्वाद देती है। ज्योतिषियों के अनुसार इस साल माता रानी अपने भक्तों को आशीर्वाद देने के लिए हाथी पर सवार होकर आने वाली हैं। बता दें कि शारदीय नवरात्रि की शुरुआत 29 सितंबर रविवार से हो रही हैं।

1- रविवार और सोमवार को नवरात्रि का शुभारम्भ हो तो मां दुर्गा का वाहन हाथी है जो अत्यंत जल की वृष्टि कराने वाला संकेत होता है।

2- शनिवार और मंगलवार को नवरात्रि का शुभारंभ हो तो मां का आगमन घोड़े पर होता जो राजा अथवा सरकार का परिवर्तन का संकेत देता है।

3- गुरुवार और शुक्रवार को नवरात्र का प्रथम दिन पड़े तो मां का आगमन डोली में होता है जो जन धन की हानि, तांडव, रक्तपात होना बताता है।

4- बुधवार के दिन से नवरात्रि आरंभ हो तो मां दुर्गा नौका पर विराज होकर आती हैं और भक्तों को सभी सिद्धि देती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here