अमेठी को भाजपा गढ़ बनाकर रहेगी स्मृति ईरानी, की ये घोषणा

0
50

अमेठी। लोकसभा चुनाव में सबसे हाॅट सीटों में शामिल अमेठी लोकसभा सीट पर भाजपा की स्मृति ईरानी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को करीब 55 हजार वोटों से हरा दिया था। कांग्रेस और गांधी परिवार को गढ़ कहे जाने वाले अमेठी में राहुल गांधी को हराने के बाद स्मृति ईरानी का पार्टी में कद बढ़ गया है। इससे पहले 2014 में चुनाव हराने के बाद स्मृति ईरानी ने लगातार पांच साल तक अमेठी क्षेत्र में खूब मेहनत की।

परिणाम 2019 के लोकसभा चुनाव में निकलकर सामने आया। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी अब कांग्रेस के इस गढ़ को भाजपा का गढ़ में बदलना चाहती है, इसलिए वह केंद्रीय मंत्री बनने के बाद पहली बार अमेठी पहुंची। जहां उन्होंने अपना घर बनाने की घोषणा की। ईरानी ने कहा कि वह अमेठी में ही अपना घर बनाएंगी, ताकि लोकसभा सत्र की जनता को कोई परेशानी ना उठाना पड़े।

घर बनाने के लिए अमेठी के गौरीगंज में उन्होंने जमीन भी देख ली है। राहुल गांधी ने साल 2004 से 2019 के चुनाव से पहले तक लोकसभा में अमेठी का प्रतिनिधित्व किया था। साल 1999 में उनकी मां सोनिया गांधी ने यह सीट जीती थी।

अमेठी सीट पर लगातार कब्जा रहने के बावजूद गांधी परिवार ने यहां अपना घर बनाने की नहीं सोची, बल्कि वे अपने दौरे के दौरान अतिथि गृह में रहते थे। स्मृति ईरानी के इस फैसले से स्पष्ट होता है कि वह आगामी वर्षो में अमेठी के साथ संबंध बरकरार रखने का इरादा रखती हैं। इतना ही नहीं, मंत्री ईरानी ने लोकसभा क्षेत्र के लिए कई परियोजनाओं की घोषणा भी की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here