कर्नाटक सरकार को बचाने में जुटे सिद्धारमैया, चला से बड़ा दांव

0
29

कर्नाटक में विधायकों द्वारा दिए जा रहे इस्तीफों से कुमारस्वामी सरकार खतरे में आ गई है। जिसके चलते अब कांग्रेस ने सरकार बचाने की कवायद शुरू कर दी है और एक नया पासा फेंका है। बताया जा रहा है कि कांग्रेस ने अपने मौजूदा मंत्रियों से इस्तीफा दिलवाया है और बागी हुए विधायकों को मंत्री पद देकर अपनी सरकार बचाने की कोषिशें तेज कर दी है।

गौरतलब है कि कांग्रेस-जेडीएस के 13 विधायकों द्वारा इस्तीफा दिए जाने के बाद कर्नाटक सरकार पर संकट गहरा गया था। वहीं निर्दलीय विधायक नागेश ने भी अपना मंत्री पद छोड़ते हुए समर्थन वापस लेकर सरकार के सामने मुश्किलें खड़ी कर दी है और समर्थन देने की घोषणा की है। फिलहाल कांग्रेस-जेडीएस के बागी विधायकों का अभी इस्तीफा मंजूर नहीं किया गया है। ऐसे में कुमारस्वामी के पास अपनी सरकार बनाने का अंतिम मौका बचा हुआ है।

कांग्रेस-जेडीएस द्वारा सरकार को बचाने के लिए ऐड़ी चोटी का जोर लगाया जा रहा है। खबरें हैं कि बागी विधयकों को मनाने के लिए सरकार उन्हे मंत्रीपद दे सकती है। इसी कड़ी में सोमवार को कांग्रेस के सभी मंत्रियों ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने ट्वीट कर कहा कि ‘हमारे मंत्रियों ने सरकार को बचाने में मदद करने के लिए स्वेच्छा से इस्तीफा दे दिया है। हम उन विधायकों को समायोजित करने का प्रयास करेंगे जिन्होंने इस्तीफा दे दिया है और मंत्री बनने के इच्छुक हैं।’ उन्होने आगे कहा, हम क्षेत्रीय आकांक्षाओं और सामाजिक दायित्वों को ध्यान में रखते हुए कैबिनेट में फेरबदल करेंगे।’

खबरों की माने तो कांग्रेस अपनी कोशिशों में सफल होती नजर आ रही है और बागी विधायक आनंद सिंह मानते हुए नजर आ रहे हैं। सिंह ने कहा है कि मैने पूर्व मुख्यमंत्री पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया और डीके शिवकुमार से वक्तिगत रूप से बात की है। उन्होने यह भी कहा है कि वह कहीं नहीं गए हैं और अपने विधानसभा क्षेत्र में ही हैं। जानकारी के अनुसार सिंह ने इस बैठक में दो मांगे रख्ी है जिसमें से मुख्य मांग जिंदल स्टील को दी गई जमीन का मुद्दा है। माना जा रही है कुमारस्वामी सरकार सिंह की इन मांगों को मान सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here