Breaking News

अंडर-19 वर्ल्ड कप से चमकी शुभमन की किस्मत

Posted on: 14 Jan 2019 14:38 by Rakesh Saini
अंडर-19 वर्ल्ड कप से चमकी शुभमन की किस्मत

शुभमन गिल का ​रविवार को भारतीय अंतरराष्ट्रीय टीम में चयन होने के बाद ही उनके पिता लखविंदर भावुक हो गए, लेकिन शुभमन के पिता ने उन्हें एक ऐसी नसीहत दी है। उन्होंने कहा कि शुभमन अभी तक अपना सपना पूरा करने को, समाज में हमें एक मुकाम पर पहुंचाने के लिए खेल रहा था। अब उसे देश के लिए खेलकर देश का नाम रोशन करना है। ये एक बड़ी जिम्मेदारी है। पूरे देशवासियों की नजरें अब उस पर रहेगी।

टीम इंडिया 23 जनवरी से न्यूजीलैंड के खिलाफ एक दिवसीय मैचों की सीरीज में शुभमन गिल का चयन होने पर उसके पैतृक गांव जैमल सिंह वाला में लड्डूू बांटे गए। गांव वासी रविवार को उसके दादा-दादी को बधाई देने पहुंचे। दादा दीदार सिंह ने बताया कि घर में ही उन्होंने सीमेंट की एक क्रिकेट पिच तैयार की थी। जिस पर वह शुभमण को क्रिकेट सिखाया करते थे। दादा की उम्र 83 वर्ष हो गई है। लेकिन पोते को सिखाए गुर आज भारत का नाम रोशन कर रहे हैं।

पंजाब में जन्मे शुभमन

भारतीय टीम शामिल शामिल हुए शुभमन गिल का जन्म 8 सितंबर 1999 को फजिल्का, पंजाब में हुआ था। फज़िल्का में शुभमन की जमीनें हैं उनके पिता लखविंदर सिंह खेतों में काम करने वाले किसान है। शुभमन के पिता लोगों से उनके बेटे की बैटिंग प्रैक्टिस में मदद के लिए बाल फेंकने के लिए कहते थे। शुभमन के पिता बताते हैं कि शुभमन को 3 वर्ष की उम्र से ही क्रिकेट में रूचि थी। शुभमन गिल बैट-बॉल के अलावा बाकी खिलौनों से खेलते ही नहीं थे। शुभमन के पिता अपने बेटे में क्रिकेट की इस दीवानगी को देखकर उसे प्रोफेशनल क्रिकेट कोचिंग दिलाने का सोचने लगे इस निश्चय को पूरा करने के लिए गिल परिवार ने मोहाली, पंजाब में बसने का निर्णय लिया। मोहाली में PCA स्टेडियम के पास उन्होंने एक किराये का मकान लिया और शुभमन की क्रिकेट कोचिंग शुरू हो गयी। शुभमन ने क्रिकेट सीखना शुरू किया और कुछ सालों में ही इसके नतीजे दिखने लगे।

दोहरे शतक ने बदल ​दी शुभमन की किस्मत

शुभमन ने इस साल रणजी टॉफी के सीजन में दस पारियों में 98.75 के औसत से 790 रन बनाए हैं। यही वजह है कि चयनकर्ताओं ने उन पर भरोसा जताया है। इसके साथ ही गिर ने मोहाली के पीसीए स्टेडियम में दोहरा शतक लगाकर चयनसमिति का ध्यान आ​कर्षित किया। जिसकी बदौलत ही शुभमन का अंतरराष्ट्रीय टीम में उनका चयन हुआ। शुभमन को अंडर 19 वर्ल्ड कप विजेता टीम में शुभमन गिल का शानदार प्रदर्शन रहा है।

शुभमन ने पाकिस्तान के खिलाफ 30 जनवरी 2018 को सेमीफाइनल में नाबाद 102 रनों ने टीम को फाइनल में पहुंचाया और उनकी बदौलत वर्ल्ड कप जीता। इसी पारी की बदौलत शुभमन इस टूर्नामेंट में मैन ऑफ द सीरीज चुने गए थे। उन्होंने विश्व कप में पांच मैचों में 124 की औसत से 372 रन बनाए थे, जिसमें उनका स्ट्राइक रेट 112.38 रहा था, उन्हें उनकी शानदार औसत के लिए यूथ क्रिकेट में जूनियर डॉन ब्रैडमैन कहा जाता है।

उन्होंने ने आईपीएल 2018 के सीजन में भी बहुत अच्छा प्रदर्शन किया जिसकी बदौलत में कोलकाता की टीम की ओर से मैच खेला था। इस दौरान उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया था। हाल ही में गिल ने 2018-2019 रणजी ट्रॉफी में तमिलनाडु के खिलाफ 268 रन की शानदार पारी खेली थी। इसके साथ ही रणजी ट्रॉफी में उन्होंने पांच मैचों में दो शतक और 4 अर्धशतक लगाते हुए 728 रन बनाए हैं। अब अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी शुभमण पर परिवार के सदस्य बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद लगाए बैठे हैं।

 

Read More :- भारतीय टीम की फास्ट बॉलिंग अटैक बेस्ट दौर में: कोच भरत अरुण

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com