Breaking News

इस तारीख से शुरू हो रहा हैं श्रावण मास, ऐसे करें शिवजी को प्रसन्न

Posted on: 06 Jul 2019 14:56 by Ayushi Jain
इस तारीख से शुरू हो रहा हैं श्रावण मास, ऐसे करें शिवजी को प्रसन्न

जुलाई का महीना व्रत एवं त्‍यौहार के लिए बेहद खास माना जा रहा है। इस महीने गुप्त नवरात्रि, देवशयनी एकादशी और कामिका एकादशी है और साथ ही श्रावण मास भी प्रारंभ होने वाले है। जी हां, सावन के महीने का हिंदू धर्म में बड़ा महत्व है क्योंकि श्रावण मास में भगवान शिव की पूजा-आराधना का विशेष महत्व होता हैं।

हिंदू पंचांग के अनुसार यह महीना वर्ष का पांचवां माह है और अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार सावन का महीना जुलाई-अगस्त में आता है। इस दौरान सावन सोमवार व्रत का महत्व अधिक होता है। दरअसल श्रावस मास भगवान भोलेनाथ को सबसे प्रिय है। इस माह में सोमवार का व्रत और सावन स्नान की परंपरा है। श्रावण मास में बेल पत्र से भगवान भोलेनाथ की पूजा करना और उन्हें जल चढ़ाना अति फलदायी माना गया है।

सावन के महीने में लाखों श्रद्धालु ज्योर्तिलिंग के दर्शन के लिए हरिद्वार, देवघर, उज्जैन, नासिक समेत भारत के कई धार्मिक स्थलों पर जाते हैं। सावन के महीने का प्रकृति से भी गहरा संबंध है क्योंकि इस माह में वर्षा ऋतु होने से संपूर्ण धरती बारिश से हरी-भरी हो जाती है। श्रवण मास में काँवड़ यात्रा भी निकाली जाती है इसका भी बहुत ज्यादा महत्व होता है।

इस दौरान लाखों शिवभक्त देवभूमि उत्तराखंड में स्थित शिवनगरी हरिद्वार और गंगोत्री धाम की यात्रा करते हैं। वे इन तीर्थ स्थलों से गंगा जल से भरी काँवड़ को अपने कंधों रखकर पैदल लाते हैं और बाद में वह गंगा जल शिव को चढ़ाया जाता है। सालाना होने वाली इस यात्रा में भाग लेने वाले श्रद्धालुओं को काँवरिया अथवा काँवड़िया कहा जाता है।

इस दिन से शुरू हो रहे सावन –

इस बार यानी 2019 में सावन का महीना 17 जुलाई से शुरू हो रहा है और यह 15 अगस्त तक चलेगा। सावन माह की शुरुआत इस बार चंद्र ग्रहण से हो रही है। दरअसल, 16 जुलाई की रात को चंद्रग्रहण होगा और अगले ही दिन से सावन शुरू हो जाएगा। सावन-2019 का पहला सोमवार 22 जुलाई को पड़ेगा। इसके बाद दूसरा सोमवार 29 जुलाई, तीसरा 5 अगस्त और फिर चौथा 12 अगस्त को पड़ेगा। 15 अगस्त को सावन खत्म होगा और यह गुरुवार का दिन होगा।

बुधवार, 17 जुलाई श्रावण मास का पहला दिन
सोमवार, 22 जुलाई सावन सोमवार व्रत
सोमवार, 29 जुलाई सावन सोमवार व्रत
सोमवार, 05 अगस्त सावन सोमवार व्रत
सोमवार, 12 अगस्त सावन सोमवार व्रत
गुरुवार, 15 अगस्त श्रावण मास का अंतिम दिन

मंत्र
सावन के दौरान ओम् नमः शिवाय का जाप करें।

व्रत और पूजा विधि
● प्रातः सूर्योदय से पहले जागें और शौच आदि से निवृत्त होकर स्नान करें
● पूजा स्थल को स्वच्छ कर वेदी स्थापित करें ।
● शिव मंदिर में जाकर भगवान शिवलिंग को दूध चढ़ाएँ ।
● फिर पूरी श्रद्धा के साथ महादेव के व्रत का संकल्प लें ।
● दिन में दो बार (सुबह और सायं) भगवान शिव की प्रार्थना करें ।
● पूजा के लिए तिल के तैल का दीया जलाएँ और भगवान शिव को पुष्प अर्पण करें ।
● मंत्रोच्चार सहित शिव को सुपारी, पंच अमृत, नारियल एवं बेल की पत्तियाँ चढ़ाएँ ।
● व्रत के दौरान सावन व्रत कथा का पाठ अवश्य करें ।
● पूजा समाप्त होते ही प्रसाद का वितरण करें ।
● संध्याकाल में पूजा समाप्ति के बाद व्रत खोलें और सामान्य भोजन करें ।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com