शिवराज सरकार को उखाड़ फेकेंगे, ,आने वाली सरकार हमारी होगी: अलावा

0
27
Heeralal-Alawa

इंदौर प्रेस क्लब में अपनी बात करने और कहने आये जय आदिवासी युवा संगठन के राष्ट्रीय संवृक्षक डॉ हीरालाल अलावा और गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव बलबीर तोमर पहुचे। बलबीर सिंह तोमर ने इस दौरान कहा कि 2002 से निरंतर आदिवासी समुदाय को बचाये रखने के लिए कार्य किया यानि शासन की योजना गरीबो तक नही पहुंच रही थी। तभी से इससे अन्याय के लिए और इन्हें मुख्यक धारा में लाने के लिए कार्य किया।

Heeralal-Alawa

कांग्रेस हो या भाजपा सबने मिलकर आदिवासियों का शोषण किया। मध्यप्रदेश आदिवासी बहुल क्षेत्र है पर विकास के नाम पर इन्हें समाप्त किया जा रहा है। आदिवासी पलायन करते जा रहा है। जब भी विकास करते है और आदिवासियों को विस्थापित कर देते है भाजपा भी योजनाओ के माध्यम से आदिवासियों की योजना बंद कर दिया जा रहा है। आदिवासी की शिक्षा नीति में बदलाव कर उन्हें खत्म कर रहे है। आज गोंडवाना गणतंत्र पार्टी पूरे मध्यप्रदेश में पूरी ताकत से लड़ रहे है। हम एक है और आगे भाजपा-कांग्रेस को बता देंगे और ये सरकार को उखाड़ फेकेंगे आगे आने वाली सरकार हमारी होगी।

Heeralal-Alawa

आगे अपनी बात कहते हुए डॉ हीरालाल अलावा ने कहा कि आज प्रदेश के चुनाव है छत्तीसगढ़, तेलंगाना और राजस्थान में हो रहे है पर जिन मुद्दों पर मध्यप्रदेश में इलेक्शन है वो कही नजर आ रहा,। आज भी कई जगहों पर आजादी की किरण नही पहुच रही है। हमने वॉट्सऐप ग्रुप के माध्यमम से काई प्रदेशो के आदिवासियों को संगठित किया। कई योजनाएं बनी पर आजतक 3 से 4 करोड़ आदिवासियों के विस्थापित कर उनकी नस्ल, अधिकार और बोली समाप्त कर दी गयी। हर राज्य के आदिवासी की जमीन छीन ली जा रही है। जब वह जमीन मांगता है तो उसे नक्सली कहा जाता है जेलों में बंद कर दिया जाता है ।

Heeralal-Alawa

हमारा मुद्दा केवल आदिवासी नही दलित भी, सामान्य वर्ग भी उन इलाकों में है जहाँ मेडिकल कॉलेज नही, स्वस्त्य सवाल नही है, कुपोषण बच्चो में बढ़रहा है। आज 22 करोड़ रूपये आया पर अलीराजपुर को पिछड़ा हुआ घोषित कर दिया गया। मोदी सरकार हो या शिवराज सरकार पर योजनाओ का लाभ आदिवासियों तक नही पहुंच रहा । हकीकत काफी अलग है। कागजो पर सब सही नजर आता है। आदिवासियों का पलायन हो रहा है वन अधिकार के माध्यम से पट्टा मिलना चाहिए।

Heeralal-Alawa

हम आज आवाज उठा रहे है रोजगार, विद्यालय, स्वास्थ्य सेवाओ के लिए लड़ रहे है। भाजपा की योजनाओं का लाभ नही, कोंग्रेस की मंशा भी समझ नही आती। ये नेता नही बल्कि आदिवासियों का खून चूसने वाले लोग है। इसलिए जयेश के युवाओं को आगे आना पड़ा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here