Breaking News

पर्चा भरने के मामले में संघवी से आगे लालवानी

Posted on: 26 Apr 2019 15:13 by Surbhi Bhawsar
पर्चा भरने के मामले में संघवी से आगे लालवानी

इंदौर लोकसभा सीट से भाजपा के प्रत्याशी शंकर लालवानी ने शुक्रवार को अपना नामांकन दाखिल कर दिया है। इस दौरान बीजेपी के वरिष्ठ नेता के तौर पर ताई सुमित्रा महाजनऔर भाई कैलाश विजयवर्गीय एक साथ बीजेपी उम्मीदवार के साथ खड़े नजर आए।

नामांकन भरने के मामले में शंकर लालवानी कांग्रेस के प्रत्याशी पंकज संघवी से आगे निकल गए। लालवानी पहले सोमवार को अपना नामांकन दाखिल करने वाले थे लेकिन शुक्रवार को ही उन्होंने नामानकर कर सबको चौंका दिया।

ये नेता पहुंचे कलेक्टर

शंकर लालवानी के साथ लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, नगर अध्यक्ष गोपीकृष्ण नेमा, जिला अध्यक्ष अशोक सोमानी, विधायक रमेश मैंदोला सहित कई नेता कलेक्टर पहुंचे।

देश में मोदी जी की सुनामी लहर: सुमित्रा महाजन

ताई ने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि चुनाव जीतने के लिए नांमाकन भरा है। देश में मोदीजी की सुनामी लहर चल रही है। इसका फायदा भी इंदौर को मिलेगा और हम लाखों मतो से चुनाव जीतेगें। भाजपा संगठित होकर चुनाव लड़ेगी।

कैलाश विजयवर्गीय ने खड़े किए सवाल

कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि एनडीए पहले से ज्यादा सीटे जीतेगी। लालवानी जी अच्छे प्रत्याशी है, इंजीनियर है और हमेंशा रचनात्मक कार्यो में लगे रहते है। इन्हें भरपूर आर्शिवाद मिलेगा। उन्होंने कहा कि राजनीतिक में विरोधी दलों के नेताओं से व्यक्तिगत संबंध होते है। यह स्वाभाविक प्रकिया है। पश्चिम बंगाल में लगातार हो रही हिंसा पर उन्होंने कहा कि वहा पर भाजपा के उम्मीदवार और कार्यकर्ताओं को निशाना बनाया जा रहा है। हम अंतिम दौड़ तक पश्चिम बंगाल में ही रहेंगे।

शंकर लालवानी ने किया जीत का दावा

शंकर लालवानी ने कहा कि आज मुर्हूत अच्छा था, इस कारण हमने नामांकन दाखिल किया। पार्टी संगठन ने भी कहा कि हर काम मुर्हूत के हिसाब से करना चाहिए। पार्टी ने जो तय किया उस हिसाब से नामांकन दाखिल किया है। उन्होंने कहा कि पार्टी में उन्हें भरपूर सहयोग मिल रहा है। ताईजी हमारे साथ है। कैलाशजी पश्चिम बंगाल से नामांकन दाखिल करवाने आए है। सभी पदाधिकारी साथ है। जीत भाजपा की होगी। सबसे ज्यादा मत हमें ग्रामीण क्षेत्रों से मिलेंगे। कांग्रेस की प्रदेश सरकार ने दो लाख रूपये कर्ज माफी के नाम पर किसानों से छलावा किया है। कांग्रेस के प्रत्याशी जमीनी नहीं होकर जमीनों से जुड़े हुए है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com