उत्तर प्रदेश के कानपुर से एक हैरान करने वाली घटना सामने आयी है। जहाँ उच्च प्राथमिक विद्यालय में 5वीं का छात्र दो का पहाड़ा नहीं सुना पाया तो संस्था के अनुदेशक ने बच्चे के हाथ में ड्रिल मशीन चलाकर घायल कर दिया। जिसके बाद परिजनों ने जमकर हंगामा किया। वहीं घटना पर संज्ञान लेते हुए खंड शिक्षा अधिकारी ने रिपोर्ट मांगी है और दोषी पाए जाने पर शिक्षक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की बात कही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, यह घटना कानपुर के प्रेम नगर स्थित एक स्कूल की है। यहां लाइब्रेरी में चल रहे मरम्मत कामों की देखरेख कर रहे एक शिक्षक ने वहां से गुजर रहे छात्र से दो का पहाड़ा सुनाने का कहा। जब छात्र पहाड़ा नहीं सुना पाया तो शिक्षक ने बिजली से चलने वाली ड्रिल मशीन से छात्र को चोटिल कर दिया। शुक्रवार को छात्र के परिजनों ने इस घटना को लेकर स्कूल के बाहर प्रदर्शन किया।

परिजनों का आरोप है कि शिक्षक ने इस घटना को लेकर उच्च अधिकारियों को जानकारी नहीं दी और न ही बच्चे का ठीक तरीके से इलाज करवाया गया। प्रदर्शन बढ़ता देख जिले के शिक्षा अधिकारी मौके पर पहुंचे और शिक्षक अनुज पांडे को वहां से हटा दिया। उन्होंने घटना की जांच के लिए तीन सदस्यों की समिति का भी गठन किया है। अधिकारियों ने दोषी पाए जाने पर शिक्षक के खिलाफ कार्रवाई की बात कही है।

पीड़ित छात्र ने क्या बताया ?

हादसे में पीड़ित छात्र ने बताया कि शिक्षक ने उससे पहाड़े सुनाने को कहा था, जब वह नहीं सुना पाया तो उन्होंने बाएं हाथ पर ड्रिल मशीन चला दी। उसके साथी छात्रों ने मशीन का प्लग हटाया, लेकिन तब तक वह चोटिल हो चुका था।

Also Read : महाराष्ट्र में दर्दनाक हादसा, रेलवे स्टेशन पर बने फुट ओवर ब्रिज का हिस्सा गिरने से कई लोग हुए घायल

आपको बता दें इसी साल सितंबर में उत्तर प्रदेश के औरेया जिले में शिक्षक की पिटाई से घायल हुए छात्र ने दो सप्ताह बाद इलाज के दौरान दम तोड़ दिया था। पुलिस ने बताया कि मृतक छात्र का नाम निखित था और वह 10वीं कक्षा में पढ़ता था। 7 सितंबर को आरोपी शिक्षक अश्विनी सिंह ने टेस्ट लिया था। इसमें निखित ने कुछ गलतियां कर दी थी। इससे गुस्साए शिक्षक ने बेरहमी से उसकी पिटाई कर दी थी।