Shahrukh Khan Birthday: जब शाहरुख ने गौरी को कहा, मुझे भी अपना भाई बना लो

0
32
shahrukh-khan-gauri-khan

इस बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री में वैसे तो आपको कई रियल लव स्टोरी सुनने को मिल जाएगी. लेकिन बॉलीवुड के किंग शाहरुख खान और गौरी खान की जैसी प्रेम कहानी बहुत ही कम देखने और सुनने को मिलती है.

बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख खान की लव स्टोरी बहुत ही अनोखी और अलग है. शाहरुख खान और गौरी की प्रेम कहानी किसी फिल्मी लव स्टोरी से कम नहीं है. अपने प्यार को पाने के लिए शाहरुख और गौरी ने कई परेशानियों का सामना किया है. दोनों ने काफी जिंदगी में उतार-चढ़ाव देखे है. आज शाहरुख खान के जन्मदिन पर हम आपको इस लव स्टोरी के बारें में बताने जा रहे है.

Via

शाहरुख खान और गौरी खान की लव स्टोरी किसी फिल्मी स्टोरी से कम नहीं है. जिस तरह फिल्मों में एक-दूसरे से प्यार करने वाले प्रेमियों को कई मुसीबतों और परेशानियों का सामना करना पड़ता है. ठीक उसी तरह ही इन दोनों को भी कई पापड़ बेलने पड़े है. लेकिन जिस तरह फिल्मों में अंत में हीरो हीरोइन के प्यार की जीत होती है. उसी तरह रियल लाइफ में भी इन दोनों सच्चे प्रेमियों के प्यार की जीत हुई है.

शाहरुख और गौरी की मुलाकात पहली बार 1984 में एक कॉमन फ्रेंड की पार्टी में हुई थी. तब शाहरुख खान की उम्र सिर्फ 18 साल थी. उस दौरान पार्टी में गौरी किसी और लड़के के साथ डांस कर रही थी, जब शाहरुख ने गौरी को देखा तो वो अपने दिल को संभाल नहीं पाए और गौरी को दिल दे बैठे. गौरी शाहरुख को पहली नजर में ही पसंद आ गई.

Via

उसके बाद शाहरुख ने थोड़ी हिम्मत करके गौरी से डांस के लिए कहा. लेकिन गौरी ने कोई खास दिलचस्पी नहीं दिखाई. गौरी ने शाहरुख को यह कह दिया कि, वो अपने बॉयफ्रेंड का इंतजार कर रही है. जैसे ही गौरी ने ऐसा कहा शाहरुख के सारे सपने टूट गए. लेकिन रियल में उस वक़्त गौरी का कोई बॉयफ्रेंड नहीं था. वो पार्टी में अपने भाई के साथ आई थी.

एक इंटरव्यू के दौरान बॉलीवुड के किंग ने बताया कि, जब गौरी ने मुझे ऐसा कहा तो, मैंने गौरी को कहा कि मुझे भी अपना भाई ही समझ लो. और फिर यहीं से शाहरुख खान और गौरी की लव स्टोरी की शुरुआत हो गई थी. गौरी को शाहरुख का ये स्टाइल और कॉन्फिडेंस बहुत पसंद आया. एक समय की बात को याद करते हुए शाहरुख ने इंटरव्यू में बताया था कि एक बार गौरी मुझे बिना बताए अपने बर्थडे पर दोस्तों के साथ कही चले गई थी. तब मुझे यह फिल हुआ कि मैं उसके बिना नहीं रह सकता हूं. मैं अपनी मां के बहुत करीब था. मैंने अपनी मां को यह बात बताई तो उन्होंने मुझे दस हजार दिए और कहा जाओ उसे ढूंढ कर ले आओ. तब मैं अपने दोस्तों के साथ गौरी को ढूंढने निकल गया लेकिन वो नहीं मिली.

Via

काफी समय तक ढूंढने के बाद गौरी शाहरुख को एक बीच पर मिली. दोनों एक दूसरे से मिले और गले लगकर खूब रोए भी. फिर इसके बाद दोनों ने शादी करने का निर्णय लिया. लेकिन असली ड्रामा तो अब शुरू हुआ. क्योंकि दोनों की शादी के बीच धर्म आ गया था. शाहरुख मुस्लिम थे और गौरी हिन्दू थी. गौरी के माता-पिता इस शादी के लिए बिल्कुल भी तैयार नहीं थे. इसके साथ ही उस वक़्त शाहरुख कुछ काम भी नहीं कर रहे थे. बल्कि फिल्मों के लिए संघर्ष कर रहे थे. लेकिन दोनों ने कई ड्रामे किए घर वालों को मनाया और आखिरकार दोनों घरवालों को मनाने में कामयाब भी हुए.इसके बाद 25 अक्टूबर 1991में दोनों की शादी हो गई. तो इस तरह से इन दोनों की फ़िल्मी लव स्टोरी रियल में सफल हुई.

Via

Read more-

Zero New Posters: आमिर ने देखा ‘जीरो’ का ट्रेलर, कही ये बात

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here