BSNL में छाया ‘नकदी संकट’, प्रधानमंत्री मोदी को लिखा पत्र

0
36

सार्वजनिक क्षेत्र की दूरसंचार कंपनी बीएसएनएल में कर्मचारियों पर सैलेरी संकट मंडराने लगा है जिसके चलते कर्मचारियों ने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर अपनी चिंता जाहिर की है। साथ ही कंपनी को पटरी पर लाने के लिए कदम उठाने का अनुरोध किया है। बता दे कि कंपनी के पास फिलहाल कर्मचारियों को जून माह के लिए सैलरी देने के लिए भी पैसे नहीं है। बीएसएनएल के इंजीनियरों का कहना है कि कंपनी को फिर से खड़ा किया जाना चाहिए।

इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि फिलहाल बीएसएनएल पर कोई कर्ज नहीं है और इसकी बाजार हिस्सेदारी में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। ऑल इंडिया ग्रैजुएट इंजीनियर्स एंड टेलीकॉम ऑफिसर्स असोसिएशन (।प्ळम्ज्व्।) ने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर कंपनी के वित्तीय संकट को दूर करने के लिये बजट समर्थन दिए जाने का अनुरोध किया है। उन्होंने कहा है कि वित्तीय संकट के चलते कंपनी का परिचालन भी प्रभावित हो रहा है।

पत्र में कहा गया है कि, श्हमारा मानना है कि मौजूदा नकदी संकट को दूर करने के लिए सरकार की तरफ से मिलने वाले न्यूनतम समर्थन से भी बीएसएनएल को एक बार फिर से मुनाफा कमाने वाली कंपनियों में शामिल किया जा सकता है।

बता दे कि बीएसएनएल में फिलहाल 1.7 लाख कर्मचारी कार्य कर रहे हैं। कंपनी को फरवरी में भी वेतन देने में परेशानी का सामना करना पड़ा था। वहीं सरकार की ओर से कंपनी को पिछले माह ही बैंकों से कर्ज दिलाने के लिए गारंटी पत्र जारी किया गया था।

आर्थिक संकट से जूझ रही कंपनी को इससे काफी सहूलियत मिलने की संभावना जताई जा रही है। इधर एसोसिएशन ने बीएसएनएल में कर्मचारियों के लिए प्रदर्शन आधारित व्यवस्था बनाए जाने की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here