Breaking News

सेक्स वर्धक है कडकनाथ मुर्गे का सेवन, ये श्रेष्ठ देशी वियाग्रा है | Sex enhancer ‘Kadaknath Cock’

Posted on: 18 Apr 2019 17:09 by Surbhi Bhawsar
सेक्स वर्धक है कडकनाथ मुर्गे का सेवन, ये श्रेष्ठ देशी वियाग्रा है | Sex enhancer ‘Kadaknath Cock’

कड़कनाथ मुर्गा मध्यप्रदेश के पश्चिमी भाग झाबुआ अलीराजपुर जिले में पाया जाता है इसमे कई औषधि गुण पाया जाता है जिससे कोई बीमारियों जैसे नपुंसकता, हार्टअटैक, नसरोग, एनीमिया, मोटापा, डाइबिटीज ,दमा जैसे रोगों से लड़ने की शक्ति देता है। साथ ही महिलाओं असमय मासिक चक्र, गर्भपात को नियंत्रित करने में रामबाण दवा है। महिला एवं पुरषों की यौवन शक्ति बढ़ता है साथ ही पुरषों में नपुंसकता को रोकता है। इनके अलावा चिकन में पुरुषो हार्मोंस पाया जाने के कारण सेक्सवर्धक भी है, इसलिये इसे देशी वियाग्रा भी कहते है । इसे खाने के बाद पुरुषों में यौन शक्ति बड़ी हुई पाई गई एवं उन्होंने लम्बे समय तक सहवास किया।

इसमें “कोलेस्ट्रॊल” का स्तर कम होता है, “अमीनो एसिड” का स्तर ज्यादा होता है। यह कामोत्तेजक होता है और औषधि के रूप में “नर्वस डिसऑर्डर” को ठीक करने में भी काम आता है। कड़कनाथ के रक्त में कई बीमारियों को ठीक करने के गुण पाये गये हैं, लेकिन आमतौर पर यह पुरुष हारमोन को बढावा देने वाला और उत्तेजक माना जाता है। इस प्रजाति के घटने का एक कारण यह भी है कि आदिवासी लोग इसे व्यावसायिक तौर पर नहीं पालते, बल्कि अपने स्वतः के उपयोग हेतु पाँच से तीस की संख्या के बीच घर के पिछवाडे़ में पाल लेते हैं।

सरकारी तौर पर इसके पोल्ट्री फ़ॉर्म तैयार करने के लिये कोई विशेष सुविधा नहीं दी जा रही है, इसलिये इनके संरक्षण की समस्या आ रही है। जरा इसके गुणों पर नजर डालें…प्रोटीन और लौह तत्व की मात्रा-25.7%, मुर्गे का बीस हफ़्ते की उम्र में वजन-920 ग्राम, मुर्गे की “सेक्सुअल मेच्युरिटी” -180 दिन की उम्र में मुर्गी का वार्षिक अंडा उत्पादन-105 से 110 (मतलब हर तीन दिन में एक अंडा) । इतनी गुणवान नस्ल तेजी से कम होती जा रही है, इसके लिये आदिवासियों और जनजातीय लोगों में जागृति लाने के साथ-साथ सरकार को भी इनके पालन पर ऋण ब्याज दर में छूट आदि योजनायें चलाना चाहिये.. तभी यह उम्दा मुर्गा बच सकेगा।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com