SCO: आतंक के खिलाफ भारत की बड़ी जीत, घोषणापत्र में क्रॉस बॉर्डर टेररिज्म बना अहम् मुद्दा

0
8
narendra modi

नई दिल्ली: आतंक के खिलाफ दुनिया में भारतकी बड़ी जीत हुई है। शंघाई कॉरपोरेशन ऑर्गनाइजेशन में भारत ने आतंकवाद का मुद्दा उठाया है। सभी सदस्य देशों की तरफ से इस समिट का जो घोषणापत्र जारी किया गया है। उसमें आतंकवाद अहम मुद्दा है। इसके अलावा भारत जिस क्रॉस बॉर्डर टेररिज्म यानी सीमा पार के आतंकवाद को लगातार उठाता रहा है, उसे भी घोषणापत्र में शामिल किया गया है।

SCO-2019 के 31 पेज वाले घोषणापत्र में लिखा गया है कि सभी सदस्य देश मानते हैं कि सीमा पर सेआतंकवाद सभी देशों के लिए चिंता का विषय है।आतंकवाद को बढ़ावा और आतंकियों को पनाह देना दुनिया के लिए खतरा है। इसके जरिए ड्रग ट्रैफिकिंग, ह्यूमन ट्रैफिकिंग, साइबर क्राइम में बढ़ोतरी हो रही है। साथ ही विकास, क्लाइमेट चेंज में सुधार की कोशिशों को झटका लग रहा है।

इतना ही नहीं सभी देशों ने निर्णय लिया है कि संयुक्त राष्ट्र के सिद्धांतों का पालन करते हुए आतंकवाद का सामना करेंगे। इस बीच कोई भी राजनीतिक द्वेष बिना किसी डबल स्टैंडर्ड के कार्रवाई को आगे बढ़ाया जाएगा। साथ ही किसी भी देश के द्वारा आतंकियों के समर्थन और आतंकी गुटों के समर्थन को बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने SCO बैठक को संबोधित करते हुए आतंकवाद का मुद्दा उठाया था। उन्होंने कहा था कि आतंकवाद के खिलाफ पूरी दुनिया को एकजुट होना होगा। इतना ही नहीं मोदी ने कहा कि आतंकवाद रोज मासूमों की जान ले रहा है। आतंकवाद को पनाह देने वाले देश को जिम्मेदार ठहराना होना होगा। मोदी ने आतंकवाद से निपटने के लिए अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन की मांग की है।

मोदी ने कहा कि आतंकवाद को लेकर एक अंतरराष्ट्रीय बैठक होनी चाहिए। इस बैठक में आतंकवाद को पनाह देने वाले राष्ट्रों को दी जाने वाली आर्थिक मदद पर भी रोक लगाई जानी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here