Breaking News

आम आदमी की टूटी कमर, सात महीने बाद फिर बढ़ी महंगाई

Posted on: 13 Jun 2019 11:20 by Surbhi Bhawsar
आम आदमी की टूटी कमर, सात महीने बाद फिर बढ़ी महंगाई

नई दिल्ली: बढती महंगाई पर आम आदमी को एक और झटका लगा है। दाल और अनाज की कीमतें बढ़ने से मई के महीने में महंगाई में जबरदस्त उछल आया है। इस उछाल के साथ ही खुदरा महंगाई दर सात महीने के सबसे ऊंचें स्तर पर पहुंच गई है।

मई महीने में कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स यानी सीपीआई 2.92 फीसदी से बढ़कर 3.05 फीसदी हो गई है। यह आंकड़ा 7 महीने में सबसे ज्यादा है। वहीं मई महीने में कोर सीपीआई अप्रैल के 4.6 फीसदी से घटकर 4.2 फीसदी पर रही है। दूसरी तरफ, औद्योगिक उत्पादन में अप्रैल में 3.4 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई।

इसके अलावा खाद्य पदार्थों की महंगाई दर बीते महीने 1.1 फीसदी से बढ़कर 1.83 फीसदी पर रही, जबकि सब्जियों की महंगाई 2.87 फीसदी से बढ़कर 5.46 फीसदी पर पहुंच गई है।

औद्योगिक उत्पादन बढ़ा

औद्योगिक उत्पादन के मोर्चे पर बेहतर आंकड़े आए हैं। सरकार द्वारा बुधवार को जारी आंकड़ों के अनुसार अप्रैल में इंडस्ट्रियल ग्रोथ बढ़कर छह महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है. यह -0.1 फीसदी से बढ़कर 3.4 फीसदी हो गई है।

हालांकि, सालाना आधार पर देश के औद्योगिक उत्पादन की रफ्तार पिछले साल से मंद रही। पिछले साल अप्रैल में जहां औद्योगिक उत्पादन में 4.5 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई थी वहां इस साल अप्रैल में 3.4 फीसदी रही।

ईंधन और बिजली की महंगाई दर मई में 2.56 फीसदी से घटकर 2.48 फीसदी पर आ गई। जबकि हाउसिंग की महंगाई दर अप्रैल के मुकाबले मई महीने में 4.76 फीसदी से बढ़कर 4.82 फीसदी पर पहुंच गई। जानकारों की मानें तो अरहर दाल की कीमतों में बढ़ोतरी का असर खुदरा महंगाई पर साफ दिख रहा है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com