Breaking News

छोटे और नए उद्योग कराएं पंजीकरण

Posted on: 06 Feb 2019 18:23 by Surbhi Bhawsar
छोटे और नए उद्योग कराएं पंजीकरण

भारत के प्रधानमंत्री सभी तबके के लोगों के साथ देश का विकास करने की कोशिश कर रहे हैं। देश के विकास के लिए धन का एक बड़ा हिस्सा देश में होने वाले व्यापार से आता है। अतः सरकार व्यापार में लोगों के सहयोग करने के लिए कटिबद्ध है। उद्योग आधार भारत सरकार के एमएसएमई मंत्रालय द्वारा जारी 12 सांख्यिक पंजीकरण संख्या है। यह पंजीकरण संख्या पहले से चल रहे छोटे-छोटे उद्योगों को तथा ऐसे ही नए उद्योगों को दिया जा रहा है। इसे प्राप्त करने के लिए पंजीकरण कराना होता है। 18 सितंबर 2015 को सरकार द्वारा उद्योग आधार मेमोरेंडम जारी किया गया था। उद्योग आधार की सहायता से एमएसएमई के अंतर्गत पंजीकरण कराया जा सकता है।

पहला एमएसएमई के अंतर्गत पंजीकरण कराने के लिए बहुत से कागजी कार्यवाही पूरी करनी होती है, जिसके इंटरप्रेंयूर मेमोरेंडम -1 और इंटरप्रेंयूर मेमोरेंडम – 2 नाम के दो फॉर्म भरने की आवश्यकता होती थी। यह एक पेचीदा काम था लेकिन उद्योग आधार के आ जाने से विभिन्न तरह के फॉर्म भरने की कोई आवश्यकता नहीं है। यदि आपका व्यापार छोटा, मीडियम अथवा माइक्रो इंडस्ट्री के अंतर्गत आता है तो आप बहुत आसानी से उद्योग आधार के तहत अपना पंजीकरण करवा सकते हैं। ऑनलाइन के जरिए शुरू होने की वजह से इसका लाभ अधिक से अधिक लोग उठा सकेंगे। उद्योग आधार में समय भी बहुत कम लगता है और कई गैर जरूरी औपचारिकताओं से आवेदकों को राहत मिल गई है।

आवश्यक दस्तावेजों का वर्णन

  • आवेदक के पास उसका व्यक्तिगत 12 सांख्यिक आधार संख्या होना आवश्यक है
  • आधार में जारी नाम को भी उद्योग के मालिकाना हक के लिए प्रयोग किया जाएगा।
  • यदि आवेदक के पास किसी तरह का जाति प्रमाण पत्र है तो उसे जमा कर देने की आवश्यकता होती है।
  • व्यापार चलाने के लिए व्यापारिक संस्था का कानूनी तौर पर सही नाम देना आवश्यक है। एक व्यक्ति एक साथ एक से अधिक एंटरप्राइज के लिए उद्योग आधार आवेदन दे सकता है। ये सभी आवेदन एक ही आधार संख्या पर पंजीकृत हो सकते हैं।
  • आवेदक को संस्था के प्रकार का प्रमाण देना आवश्यक है। उद्योग संस्था प्रोपराइटरशिप, पार्टनरशिप, प्राइवेट लिमिटेड, पब्लिक लिमिटेड, एलएलसी आदि के अंतर्गत पंजीकृत हो सकता है।
  • व्यापारिक स्थल के पते का प्रमाण पत्र, ईमेल एड्रेस और फोन नंबर देना अनिवार्य है।
  • उद्योग शुरू होने की तारीख का प्रमाण।
  • जिस बैंक खाते का इस्तेमाल उद्योग के लिए किया जा रहा है, उसका विवरण देना अनिवार्य है।
  • एंटरप्राइज में काम कर रहे लोगों की सही संख्या देना अनिवार्य है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com