अयोध्या मामला : 15 अगस्त तक निपटेगा राम मंदिर का मामला | Ayodhya case: Ram temple case to be disposed by August 15

0
55

अयोध्या राम जन्मभूमि विवाद के मामले में मध्यस्थता को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। तीन सदस्यीय मध्यस्थता समिति ने सीलबंद लिफाफे में अंतरिम रिपोर्ट सौंप दी है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच जजों की संविधान पीठ ने सुनवाई दौरान के पूरी रिपोर्ट पढ़ी गई। सकारात्मक समाधान के लिए मध्यस्थता समिति ने अदालत से 15 अगस्त तक का समय मांगा जो उसे मिल गया। अब मामले की अगली सुनवाई 15 अगस्त के बाद होगी।

तीन सदस्यों वाली मध्यस्थता समिति ने अदालत से और समय मांगा, ताकि इस मामले का सौहार्दपूर्ण समाधान निकाला जा सके। इसके बाद अदालत ने उन्हें 15 अगस्त तक का समय दे दिया। मुख्य न्यायाधीश ने कहा कि हम आपको यह नहीं बताने वाले हैं कि क्या प्रगति हुई है, यह गोपनीय है। इस मामले में कोर्ट ने पूर्व जज एफएम कलीफुल्ला, धर्म गुरु श्रीश्री रविशंकर और वरिष्ठ वकील श्रीराम पंचु को मध्यस्थ नियुक्त किया गया था, जिन्हें सभी पक्षों से बात कर हल निकालने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। इतना ही नहीं, कोर्ट ने पैनल चार हफ्ते में मध्यस्थता के जरिए विवाद निपटाने की प्रक्रिया शुरू करने के साथ 8 हफ्ते में यह प्रक्रिया खत्म हो।

supreme court

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस ने कहा था कि मध्यस्थता प्रक्रिया कोर्ट की निगरानी में होगी और इसे गोपनीय रखा जाएगा। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि जरूरत पड़े तो मध्यस्थ और लोगों को पैनल में शामिल कर सकते हैं। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि अगर 1 फीसदी भी समझौता और मध्यस्थता का चांस है तो प्रयास होना चाहिए।

Read More : क्या ‘आंतक’ की काली स्याही ‘विकास’ की इबारत को डुबो देगी? | Digvijay Singh Political-Maneuver on Hindu-Muslims in the name of Pragya Thakur

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here