Breaking News

आई बारी राजस्थान की

Posted on: 06 Dec 2018 15:05 by Surbhi Bhawsar
आई बारी राजस्थान की

मुकेश तिवारी

([email protected])

लोकतंत्र के महापर्व में मध्यप्रदेश के मतदाताओं ने बढ़-चढ़कर हिस्सेदारी की अब बारी पड़ोसी राज्य राजस्थान की है। कल 7 दिसंबर को इस प्रमुख हिंदी भाषी राज्य में मतदान की बेला है। 200 में से 199 सीटों के लिए यहां के मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करने वाले हैं। उम्मीद की जानी चाहिए कि राजस्थान का मतदाता भी मध्यप्रदेश के मतदाता की तरह विधानसभा चुनाव में वोट डालने में नया कीर्तिमान स्थापित करेगा। कल शाम 5 बजे बाद जब मतदान का आंकड़ा प्रतिशत में आएगा तो वह बहुत बड़ा होगा। ठीक मध्यप्रदेश की तरह या उससे भी ज्यादा।

देश में राजस्थान का मतदाता कुछ अलग ही मिजाज का माना जाता है। उसका मिजाज क्या और कैसा है इसका अंदाज लगाने के लिए पिछले कई विधानसभा चुनाव के परिणामों को गौर से देखना पड़ेगा। यहां के लोग किसी भी एक राजनीतिक दल के हाथों में सत्ता की चाबी 5 साल से ज्यादा नहीं रहने देते। बदलाव के पक्ष में उनका मत रहता आया है। इस बार उनका मत क्या है इसका खुलासा तो 11 दिसंबर को होगा पर दोनों ही प्रमुख राजनीतिक दल भाजपा और कांग्रेस ने यहां चुनाव प्रचार में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। कांग्रेस को उम्मीद है कि वह 5 साल बाद फिर राजस्थान की गद्दी संभालने वाली है तो भाजपा इस आशा में है कि उसकी सत्ता बरकरार रहेगी। राजस्थान के 4 करोड़ 76 लाख मतदाता ने सबकी सुनने के बाद खामोशी ओढ़ ली है। इस खामोशी ने राजनीतिक दलों और चुनाव मैदान में उतरे नेताओं की बेचैनी को बढ़ा दिया है। मतदाता शुक्रवार को ईवीएम का बटन दबाकर अपनी खामोशी तोड़ने वाला है। देखना यह है कि वह महारानी का राज कायम रखने के पक्ष में मतदान करता है या कांग्रेस को 5 साल बाद फिर सत्ता का ताज पहनाता है। राजस्थान की तरह कल दक्षिण के राज्य तेलंगाना की जनता भी अपने मताधिकार का प्रयोग करने वाली है। उम्मीद की जानी चाहिए कि वहां भी लोग जमकर मतदान करेंगे।

लेखक Ghamasan.com के संपादक हैं।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com