Breaking News

अब रेलवे ने दी मोदी के फोटो वाली टिकट, तीन कर्मचारी सस्पेंड | Railway Ticket With Modi’s Photo Issued to Passengers, 3 Suspended

Posted on: 16 Apr 2019 15:26 by rubi panchal
अब रेलवे ने दी मोदी के फोटो वाली टिकट, तीन कर्मचारी सस्पेंड | Railway Ticket With Modi’s Photo Issued to Passengers, 3 Suspended

रेलवे ने एक बार फिर आचार संहिता का उल्लंघन किया है। बाराबंकी में रेलवे स्टेशन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फोटो लगे टिकट यात्रियों को बेचने का मामला सामने आया है। जिसमें चुनाव आयोग ने कार्रवाई करते हुए बाराबंकी रेलवे स्टेशन पर तैनात तीन कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया है।

बाराबंकी रेलवे स्टेशन पर मौके पर तीन कर्मचारी जो कि रिजर्वेशन विभाग में सुपरवाइजर की पोस्ट पर सुरेश कुमार, चित्रा कुमारी और मुख्य आरक्षण प्रबन्धक ओंकारनाथ शामिल है। चुनाव आयोग ने पूरे मामले पर जिला प्रशासन से रिपोर्ट तलब कर एडीएम संदीप कुमार गुप्ता को इस मामले की जांच सौंपी है। एडीएम ने खुद स्टेशन जाकर मामले की जांच की और जांच में तीनों कर्मचारी आचार संहिता के उल्लंघन करने के दोषी पाए गए।

जांच के मुताबिक रेलवे के कुछ अधिकारियों ने कहा कि गलती से प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर वाले टिकट का रोल मशीन में लग गया था जिसके कारण यह लापरवाही हुई। एडीएम संदीप कुमार गुप्ता के मुताबिक इस पूरे मामले की जांच रिपोर्ट चुनाव आयोग को भेजी जा रही है।

Read more : चुनाव आयोग की सख्ती के बाद योगी आदित्यनाथ को फिर याद आए ‘बजरंग बली‘ | After the strictness of the Election Commission, Yogi Adityanath remembers again, ‘Bajrang Bali’

इसके पहले भी  रेलवे से  ऐसी लापरवाही हो  चुकी  है। चाय  की चुसकी के साथ चौकीदार का प्रचार करने वाले चाय के कप को शताब्दी ट्रेन में एक यात्री ने देखते ही उसकी फोटो लेकर ट्विटर पर डाल दी जिसके बाद यह तुरंत ट्रोल हो गई। आईआरसीटीसी प्रवक्ता ने बताया है कि इसके बारे में रेलवे को कोई जानकारी नहीं थी। रेलवे से इसकी स्वीकृति नहीं ली गई थी। इस पर रेलवे से कार्रवाई जारी है, सेवा प्रदाता पर 1 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है, सेवा प्रदाता को इसके लिए नोटिस भी दिया गया है।

तस्वीर में साफ देखा जा रहा है कि कप पर विज्ञापन संकल्प फाउंडेशन नामक एनजीओ द्वारा किया गया था। इसके पहले भी रेलवे पर आचार संहिता के दौरान प्रचार कर नियमों के उल्लंघन पर सवाल उठ चूके है। आचार संहिता के दौरान किसी भी पार्टी का इस तरह प्रचार करना नियमों के विरूद्ध है, ऐसा करने वाले पर सक्त कार्रवाई होती है।

 

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com