Breaking News

रेल सुविधाओं में गाँवडा है इंदौर

Posted on: 02 Jun 2018 06:40 by Ravindra Singh Rana
रेल सुविधाओं में गाँवडा है इंदौर

इंदौर: जयपुर, लखनऊ के मुकाबले मेट्रो व अन्य मामलों में आज भी एम पी का बड़ा गांव है इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर ,भोपाल, जबलपुर, ग्वालियर लाख कितने भी सफाई के मामले मे अपने गाल फुलाये किन्तु सड़को ,मेट्रो ,बिगड़ा ट्रैफिक के मामले में आज भी पिछड़ा है इंदौर भला हो शिवराज का की उसने मनीषसिंह जैसे अफसर को निगम में पदस्थ किया जिसने मेहनत कर इंदौर का नाम सफाई में देश भर में रोशन किया किन्तु आज भी कई मामलों में जयपुर, लखनऊ से बहुत पीछे है इंदौर जयपुर ,लखनऊ में मैट्रो ट्रेन के प्रोजेक्ट द्रुत गति पर है लखनऊ में टाटा मेट्रो का काम कर रहा है जयपुर ,लखनऊ की चौड़ी सड़के भी इंदौर को शर्मिदा करती है ?

कहने को तो सांसद सुमित्रा महाजन 7 बार से ज़्यादा की सांसद हैं किंतु सांसद के खाते में एक बड़ी उपलब्धि नही है! ,बी आर टी एस को लेकर सुमित्रा महाजन ने नाराजगी जताई थी वह भी बी आर टी एस बनने के बाद जब बी आर टी एस बन रहा था उस समय सांसद ने पुरोजर विरोध क्यो नही किया ? इन्दोर से दिल्ली ट्रेनों की संख्या बेहद कम हैं मुंबई के लिए तो 100 से अधिक बसे हैं ट्रेन भी पर्याप्त है विशेषकर दुरंतो किन्तु दिल्ली जाने में कोई ऐसी फ़ास्ट ट्रेन नही है, यदि सांसद में इच्छाशक्ति होती तो पूरे रिंग रोड पर अब तक पीपल्यापाला से देवास नाका तक ओवर ब्रिज बन जाता ? यदि सांसद निकम्मी नही होती तो आज शहर में सिक्स लेन ,एट लेन की सड़कें होती मास्टरप्लान के तहत शहर की सड़कें होती ?

बायपास से इंदौर की और आने के लिए पहली इंट्री टोल नाके के बाद बेस्ट प्राइज के बाद होती किन्तु जब बायपास बना तब भी संसद सोती रही ? भोपाल आगरा से आने वाला शहर में कहाँ से प्रवेश करे ( डी पी एस से रांग साइड आता है) ,असल मे सांसद कैलाश विजयवर्गीय होते तो इस गांवड़े की सुरत जयपुर ,लखनऊ से कम नही होती आज शहर में जो विकास बांड सड़के से लगाकर चौड़ी सड़के महापौर रहे कैलाश की देन है नगरीय प्रशासन मंत्री रहते कैलाश ने मेट्रो ट्रेन का प्रस्ताव बनाया जो शिवराज सरकार के अफसरों ने आज तक पूरा न होने दिया? मेट्रो का शिलान्यास भी न हो सका जाहिर है एम पी के बाहर के अफसर भी इस गांवड़े को गांव बने रहना ही देखना चाहते हैं ?

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com