राहुल बहन के भागीदार और मां के कर्जदार | Lok Sabha Election 2019: Rahul Gandhi, President of Indian National Congress

0
86

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी की तेजी से बढ़ रही संपत्ति पर सत्तापक्ष ही कई सवाल खड़े कर रहा है। हालांकि यह सवाल सहज किया जा सकता है कि यदि उनकी संपत्ति गड़बड़ ढंग से बढ़ रही है तो आयकर महकमा क्या करता रहता है? आयकर की इस विफलता के लिए भला कौन जिम्मेदार है।

बहरहाल राहुल गांधी ने केरल के बायनाड में नामांकन का पर्चा दाखिल करते समय अपनी संपत्ति पंद्रह करोड़ रुपए बताई है। यह 2004 के 55 लाख से लगभग तीस गुना और 2014 के नौ करोड़ से 67 प्रतिशत ज्यादा है। यही कारण है कि उनकी संपत्ति पर भाजपा आंखे तैर रही है। बहरहाल, उनका शपथ पत्र ही बताता है कि अचल संपत्ति के मामले में वे बहन प्रियंका वाड्रा के भागीदारर हैं तो नकदी के मामले में मां सोनिया गांधी के कर्जदार।

उनकी संपत्ति पर सवाल उठना कोई नई बात नहीं। बीते लोकसभा चुनाव में भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने बड़ी-बड़ी बातें की थी तो इस बार मोर्चा संभाला है केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने। जाहिर है राहुल के पास जो भी है वो रिकॉर्ड पर है और घोषित भी किया जा रहा है।

पहले भाजपा का सवाल था अखिर कैसे एक सांसद की सम्पत्ति आय के कोई प्रत्यक्ष स्रोत के बिना इतने वर्षों में इतनी ज्यादा बढ़ सकती है? वहीं इस बार कहा गया ये लोग संपत्ति सृजन स्कीम’ से धन कमाते हैं। इनका और इनकी टीम का एक राजनैतिक तरीका रहा है कि जो ईमानदारी से काम कर रहा है उस पर झूठे आरोप लगाकर उसे परेशान कर दो। हालांकि इन्हें समझना चाहिए कि ‘जिनके घर शीशे के हों वो दूसरों पर पत्थर नहीं फेंका करते।

‘ बहरहाल, राहुल ने जो संपत्ति घोषित की है, उसके मुताबिक उनके पास करीब छह करोड़ की चल संपत्ति है। इसमें करीब अठारह लाख रुपए विभिन्न बैंक खातों में, करीब पांच करोड़ रुपए शेयर व बांड में निवेश 40 लाख के लगभग पीपीएफ खाते में और चालीस हजार नकदी हैं। लगभग तीन लाख रुपए के जेवरात भी वे रखते हैं। उधर, उनकी अचल संपत्ति लगभग दोगुनी है। इसमें हरियाणा के गुड़गांव (गुरुग्राम) में पौने नौ करोड़ कीमती दो दुकानें प्रमुख हैं। छतरपुर (दिल्ली) सवा करोड़ से कुछ ज्यादा का फार्म हाउस बहन प्रियंका की भागीदारी में है। राहुल ने अपनी मां सोनिया गांधी से पांच लाख रुपए का पर्सनल लोन भी ले रखा है। उनके पास किराएदारों के 67 लाख रुपए से ज्यादा बतौर जमानत रखा है।

Read more : लोकसभा चुनाव : नागालैंड में सबसे ज्यादा 41 फीसदी वोटिंग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here