छात्रों से बातचीत में राहुल के निशाने पर रहे मोदी

0
43
rahul-gandhi

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी तिरुपति बालाजी से लौटने के बाद शनिवार को दिल्ली में छात्रों को संबोधित करने पहुंचे। दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में ‘शिक्षा: दशा और दिशा’ कार्यक्रम में स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स के छात्रों से मुलाक़ात की। राष्ट्र गान और पुलवामा के शहीदों को श्रद्धांजलि देकर कार्यक्रम की शुरुआत की।

तमिलनाडु : AIADMK के सांसद एस राजेंद्रन की हादसे में मौत

छ़ात्रों से मिलते हुए राहुल गांधी ने कहा कि मैं यहां अपने सामान्य वेशभूषा में नहीं आया इसके पीछे तर्क है। मैं अपनी बात रखूंगा लेकिन उससे ज्यादा मैं अपसे सुनना चाहता हूं, आपके मुद्दे क्या हैं और हम क्या कर सकते हैं। हमारी सरकार स्वीकार ही नहीं करना चाहती है कि देश में रोजगार का संकट है। मैं यहां इसलिए आया हूं कि आप मुझसे सवाल कर सको लेकिन प्रधानमंत्री इससे सीधे इनकार करते हैं। एक छात्र के सवाल के जवाब में राहुल ने कहा कि मोदी सरकार 15 से 20 उद्योगपतियों को ही पूरी सुविधा दे रही है।

राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए राहुल गांधी ने बनाई टास्क फोर्स

राहुल गांधी ने कह कि, सरकार ने उद्योगपतियों को 3 लाख करोड़ रुपये से अधिक दिए। उन्होंने पूछा कि क्‍या पिछले 5 साल में कोई नई यूनिवर्सिटी खोली गई? किसानों का कर्ज भी माफ़ नहीं हुआ है। आज एक ही विचारधारा के लोग विश्वविद्यालय में कुलपति के रूप में बैठाए जा रहे हैं, यह आपका अपमान है। वहीं एक पीएचडी की छात्रा ने राहुल गांधी से पूछा कि देश के लिए जान देने वाले अर्धसैनिक बलों को शहीद का दर्जा क्यों नहीं दिया जाता है? इस पर राहुल ने कहा कि अर्द्धसैनिक बलों को शहीद का दर्जा नहीं मिलता है, हमारी सरकार आएगी तो उन्हें शहीद का दर्जा मिलेगा।

राहुल ने कहा कि आप देख सकते हैं कि हमारी सरकार के बाद शिक्षा के बजट में कमी आई है। बीजेपी को लगता है कि आप निजिकरण से शिक्षा में प्रगति ला सकते हैं लेकिन हम इसमें विश्वास नहीं करते।

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले राहुल गांधी दिल्ली और मुंबई में पढ़ने वाले छात्रों से डिनर पर बात की थी। राहुल के इस कार्यक्रम में दिल्ली के आईआईटी मुंबई, टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइन्स और लेडी श्रीराम कॉलेज छात्र शामिल हुए थे।

पुलवामा हमले के बाद मोदी को उड़ाने की धमकी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here