Breaking News

राहुल गांधी बोले, मैं पार्टी अध्यक्ष नहीं रहूंगा

Posted on: 26 Jun 2019 12:41 by Pawan Yadav
राहुल गांधी बोले, मैं पार्टी अध्यक्ष नहीं रहूंगा

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस में हलचल मची हुई है। इसी बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने हार की जिम्मेदारी लेते हुए अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने की बात कही थी, वह इस बात पर आज भी अडिग है। राहुल गांधी का कहना है कि वे अध्यक्ष पद नहीं संभालना चाहते हैं। राहुल ने कहा कि यह मेरा फैसला है।

उन्होंने ये भी कहा कि गैर-गांधी परिवार से पार्टी अध्यक्ष चुना जाना चाहिए। सूत्रों के मुताबिक बैठक के दौरान सोनिया गांधी ने एक शब्द भी नहीं कहा। बैठक में लोकसभा सांसदों ने राहुल गांधी से अध्यक्ष पद पर बने रहने बात कही। सांसदों का कहना है कि पार्टी में फिलहाल अध्यक्ष पद के लिए कोई विकल्प नहीं है। राहुल गांधी और सोनिया गांधी को मिलाकर लोकसभा में कांग्रेस के 52 सांसद हैं। सभी सांसदों ने एक सुर में कहा कि राहुल गांधी को ही अध्यक्ष बने रहना चाहिए, लेकिन सभी सांसदों के कहने के बाद भी राहुल ने अपने अध्यक्ष पद पर बने रहने की बात को नकार दिया।

सूत्रों मुताबिक बाद में शशि थरूर और मनीष तिवारी ने राहुल को कहा कि हार की जिम्मेदारी न सिर्फ अध्यक्ष है, बल्कि हार की जिम्मेदारी सामूहिक है। गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद 25 मई को हुई पार्टी कार्य समिति की बैठक में राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश की थी। हालांकि कार्यसमिति के सदस्यों ने उनकी पेशकश को खारिज करते हुए, उन्हें आमूलचूल बदलाव के लिए अधिकृत किया था। तब से लेकर अब तक असमंजस बना हुआ हैं। पार्टी के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर ने पिछले दिनों कहा कि एक ‘गैर गांधी’ पार्टी का अध्यक्ष हो सकता है, लेकिन गांधी परिवार को संगठन के भीतर सक्रिय रहना होगा।

उन्होंने दावा किया कि भाजपा का लक्ष्य ‘गांधी मुक्त कांग्रेस‘ है, ताकि फिर ‘कांग्रेस मुक्त भारत‘ का उनका उद्देश्य पूरा हो सके। इस दौरान ने कहा कि अगर राहुल गांधी पार्टी अध्यक्ष बने रहते हैं तो यह सबसे अच्छा होगा। उन्होंने कहा कि मैं आश्वस्त हूं कि पार्टी का अध्यक्ष कोई नेहरू-गांधी न हो तब भी हमारा अस्तित्व कायम रहेगा। बशर्ते नेहरू-गांधी परिवार पार्टी में सक्रिय रहे हैं।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com