खुद को पप्पू ही साबित कर रहे हैं राहुल गांधी | Rahul Gandhi is proving himself as Pappu

0
51
rahul gandhi-

राहुल गांधी ने बुधवार को अमेठी (उत्तरप्रदेश) लोकसभा सीट से नामांकन पत्र दाखिल किया। कोई तीन किलोमीटर लंबा भीड़भरा रोड शो कर जब राहुल निर्वाचन अधिकारी के पास पर्चा दाखिल करने के लिए पहुंचे तो नजारा चौंकाने वाला था। आदर्श आचार संहिता के चलते कोई भी नेता अपने साथ चार व्यक्ति से ज्यादा नहीं ले जा सकता। ऐसा करे तो उस पर आचार संहिता के उल्लंघन का केस दाखिल हो जाता है।

बहरहाल राहुल ने ऐसी कोई रिस्क नहीं ली। वे तो अपने साथ चार के बजाय तीन ही लोगों को अंदर तक ले गए। इस घटनाक्रम के जो फोटो और वीडियो देश ने देखे उस पर कई जगह तीखी टिप्पणियां हुई। कारण? फोटो में जो चार लोग दिखाई दे रहे थे उनमें एक स्वयं राहुल गांधी और दूसरीं उनकी माताजी सोनिया गांधी। तीसरा व्यक्तित्व था छोटी बहन प्रियंका गांधी जो इन दिनों कांग्रेस की महासचिव की हैसियत पा चुकी हैं। यहां तक तो सबकुछ ठीक था। चौथा चेहरा था राबर्ट वाड्रा का।

प्रवर्तन निर्देशालय की पूछताछ से किसी तरह मुक्ति पाकर हाई कोर्ट की जमानत पर चल रहे राहुल के जीजाजी राबर्ट के वहां होने का क्या तुक है? इसका जवाब राहुल या उनकी माताजी ही बेहतर दे सकती हैं, क्योंकि राबर्ट न तो ऐसा चेहरा है जिसका राजनीति से प्रत्यक्ष तौर पर कोई लेना-देना हो और न ही ऐसी शख्सियत है जिससे अमेठी क्षेत्र में बड़े पैमाने पर वोट राहुल गांधी के खाते में डल जाएं। जाहिर है गांधी परिवार अपने इकलौते दामाद को सर आंखों पर बैठाए रखना चाहता है। अन्यथा राहुल के नामांकन दाखिल करते समय देश के बड़े नेता और वकील वहां होते और होते तो दिखाई भी देते।

इससे जाहिर होता है कि यह परिवार अपने आप में कितना आत्म केंद्रित हो गया है। इसे कोई बाहरी नेता भरोसेमंद नजर ही नहीं आता। हो सकता है यही कारण रहा हो कि राहुल ने जब यूपी के मुकाबले में खुद को अकेला महसूस किया तो बहन प्रियंका को राष्ट्रीय महासचिव का जिम्मा देकर पूर्वोत्तर यूपी की २८ लोकसभा सीटों को जीताने की जिम्मेदारी सौंप दी। भाई राहुल तो महासचिव से अध्यक्ष तक की यात्रा करते-करते कांग्रेस को आगे नहीं बढ़ा पाए। अब देखें बहन प्रियंका कितना प्रभाव राजनीति पर छोड़ती हैं। छोड़ पाती भी हैं या नहीं।

Read more : बिहार : पोलिंग बूथ के पास मिला बम, वोटरों में मचा हड़कंप

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here