पूजा हुई, उड़ान भरी लेकिन फिर भी अभी भारत नहीं आएगा राफेल

भारत को भले ही ये राफेल विमान कल मिल गया हो लेकिन हिंदुस्तान की धरती पर इसे आने में अभी 8 महीने का समय लगेगा।

0
22
rafale

नई दिल्ली: विजयादशमी के मौके पर भारतीय वायुसेना की आसमान में ताकत और बढ़ गई है। दशहरा के अवसर पर भारत को फ्रासीसी लड़ाकू विमान राफेल मिल गया है, जिसे रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने रिसीव किया। इस दौरान राजनाथ सिंह ने विधि विधान से शस्त्र पूजा की। उन्होंने राफेक विमान पर ‘ऊँ’ बनाया और पहिये के नीचे नींबू रखकर पूजा की।

भारत और फ्रांस के बीच हुई 36 विमानों की डील में से भारत को पहली क़िस्त में 4 विमान मिलेंगे। भारत को भले ही ये राफेल विमान कल मिल गया हो लेकिन हिंदुस्तान की धरती पर इसे आने में अभी 8 महीने का समय लगेगा। हिंदुस्तान में आने के बाद इसको इस्तेमाल में लाने में समय लगेगा। फरवरी 2021 तक जाकर ये विमान पूरी तरह से ऑपरेशनल होंगे।

2022 है डेडलाइन

गौरतलब है कि भारत और फ्रांस के बीच हुई 36 राफेल विमानों की डील की डेडलाइन 2022 है। अगले तीन साल में भारतीय वायुसेना को ये सभी 36 विमान मिल जाएंगे जो सेना को दमदार बनाने के लिए काफी है। राफेल मिलने के बाद वायुसेना की आसमान में ताकत और बढ़ जाएगी।

राफेल की ताकत

राफेल विमान की ताकत के बारे में बात करे तो इसे भारतीय वायुसेना के हिसाब से तैयार किया गया है। भारत को मिलने वाले राफेल का टेल नंबर RB001 है। 4.5 जेनरेशन का ये राफेल विमान की 24500 किलो भार ढोने की क्षमता है, साथ ही विमान के जरिए एक साथ 125 राउंड गोलियां निकलती हैं जो किसी को भी चीर कर रख सकती हैं।

ख़ास बात तो ये है कि इस विमान में भारत के लिए स्पेशली दो तरह की मिसाइल लगाई गई हैं, जो हर खतरे को खत्म करने के लिए तैयार हैं। बताया जा रहा है कि इन 36 विमानों में से 18 अंबाला एयरबेस और 18 अरुणाचल प्रदेश के आसपास तैनात होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here