रमजान में जन्मी बछिया और सर्वधर्म समभाव

0
14

नगीन बारकिया

इंदौर : गुरुवार 24 मई की रात ओल्ड सुभाषनगर ((वार्ड 44) में सर्वधर्म समभाव, सद्भाव, प्रेम और धर्मनिरपेक्षता का नायाब उदाहरण तब देखने को मिला जब करीब रात नौ बजे एक जैन परिवार के घर के सामने सड़क पर गौमाता ने एक बछिया को जन्म दिया। हुआ यह कि जैन परिवार ने अपने घर के सामने जब प्रसूति के दर्द से कराहती गाय को देखा तो उन्होंने तुरंत 100 नंबर डायल कर पुलिस को सूचित किया तथा पास ही में रह रही स्थानीय पार्षद मंजूश्री बारकिया को भी बुलवाने भेजा।

पार्षद ने इस बीच फोन कर गाय मालिक को तलाशने भेजा और दो लोगों को गाय के पास लगाया। गाय मालिक को ढूंढने वाले मो. इरशाद ( नल सुपरवाइजर) ने इस बीच स्वयं प्रसूती का काम संभाला और जैन साहब ने गाय को पंखा झलने का काम किया। इस बीच 100 नंबर की पुलिस टीम भी आ पहुंची।

उसमें एक व्यक्ति इस काम का अनुभवी था उसने सबको हटाकर काम अपने हाथ में लिया। पुलिस के इस संवेदनशील नजरिये को बहुत कम लोगों ने देखा होगा। पू्री टीम गाय की सेवा में लग गई। एक पंडित और पंडिताइन भी पार्टी में जाना छोड़ इस कार्य में जुट गए। सभी के प्रयासों से आखिर गाय ने बछिया को जन्म दिया। रमजान माह में एक मुस्लिम, एक जैन और एक पंडित के माध्यम से और पुलिस टीम के सौजन्य से यह महान कार्य संपन्न हुआ जिसके लिए सभी बधाई के पात्र हैं।

यह वास्तव में धर्मनिरपेक्षता और सर्वधर्म सम्भाव का सबसे अच्छा उदाहरण कहा जा सकता है। एक बार फिर सबको बधाई। विशेषकर पुलिस दल ने जिस तत्परता का परिचय दिया वह काबिले तारीफ है। इस सारे काम में सब इतने व्यस्त रहे कि किसी को भी इस अवसर का फोटो लेने की समझ नही पड़ी। संलग्न चित्र एक फाइल फोटो है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here