Breaking News

शराब पर सवाल बहेंगे विधानसभा में

Posted on: 08 Jul 2019 10:51 by Pawan Yadav
शराब पर सवाल बहेंगे विधानसभा में

भोपाल। मप्र विधानसभा का मानसून सत्र सोमवार से शुरू होगा। इस दौरान सरकार की शराब नीति को लेकर विधायक आवाज उठाने वाले हैं। दोनों प्रमुख दल के विधायकों ने शराब नीति को लेकर सवाल खड़े किए। 15 साल बाद सत्ता में आई कांग्रेस को विधायकों के तीखे सवाल असहज कर सकते हैं। 12 से अधिक विधायकों ने अपने-अपने क्षेत्रों में शराब दुकानों की अनियमितता, अवैध शराब परिवहन और उनकी धड़ल्ले से हो रही अवैध बिक्री सहित के मुद्दों पर सरकार से जवाब मांगा है।

सवाल पूछने वाले विधायकों में कांग्रेश के डॉ. हीरालाल अलावा, हर्षविजय गहलोत के अलावा भाजपा की कृष्णा गौर, नीना वर्मा, जसमत जाटव, देवेंद्र वर्मा शरदेंदु तिवारी, हरिशंकर खटीक, विश्वास सारंग, मुरली मोरवाल, राकेश पाल सिंह, विष्णु खत्री, प्रदीप पटेल, जयसिंह मारावी और संदीप जयसवाल शामिल है। समय-समय पर सरकार की खिंचाई करते रहने वाले जयस नेता और कांग्रेस की टिकट से विधायक चुने गए डॉ. हीरालाल अलावा ने सीमावर्ती गुजरात के मद्देनजर शराब को लेकर सवाल उठाया है। उनका मानना है कि पुरानी सरकार में भी शराब बंदी वाले गुजरात में तस्करी के जरिए बड़े पैमाने पर शराब सप्लाई होती रही हैं।

आज भी कमोबेश यही हाल है। ऐसे में उन्होंने शराब की तस्करी को लेकर बड़ा सवाल सरकार के सामने खड़ा किया है। विधायक देवेंद्र वर्मा ने सवाल उठाया है कि शराब जब्ती के बाद कई मामले ऐसे सामने आते हैं कि जब्त की गई शराब का लावरिस है। उन्होंने कहा कि पुलिस और आबकारी का अमला आखिर जब्त शराब के मालिक को ढूंढ क्यों नहीं पाती है। विधायक जसमीत जाटव, शरदेंदु तिवारी, हरिशंकर खटीक में भी शराब नीति को लेकर सवाल खड़े किए हैं।

घर-घर शराब उपलब्ध करवाने की नीति के पीछे का सच जानने के लिए विश्वास सारंग ने सवाल उठाया, तो जयसिंह मरावी ने कहा पूरा हमला होने के बाद भी अवैध रूप से शराब की दुकानें कैसे सज जाती है और खुले में शराब की बिक्री कैसे हो रही है। सिवनी जिले में तो संचालित देशी-विदेशी शराब दुकानों का कमर्शियल व्यपवर्तन नहीं हुआ है फिर भी शराब बिक्री हो रही है। यह सवाल राकेशपाल सिंह ने उठाते हुए सरकार से जवाब मांगा है। शराब दुकानों लोगों की आपत्ति के बावजूद ऐसे स्थानों पर आवंटित की जा रही है, जहां इनसे जनभावनाएं आहत होती है।

ऐसी जगहों से दुकान को हटाने की पैरवी का सवाल श्रीप्रसाद जायसवाल ने उठाया है। हर्ष विजय गहलोत ने सैलाना क्षेत्र में शराब बिक्री में वृद्धि किए जाने पर सवाल खड़े किए हैं। शराब एक दुकान से दूसरे दुकान तक मैनुअल शराब परिवहन परमिट पर नीना वर्मा ने सवाल उठाया है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com