Breaking News

गार्डन में पबजी खेलना पड़ा भारी, 10 छात्र अरेस्ट PUBG had to play heavy in the Garden, 10 student arrest

Posted on: 14 Mar 2019 12:57 by Pawan Yadav
गार्डन में पबजी खेलना पड़ा भारी, 10 छात्र अरेस्ट  PUBG had to play heavy in the Garden, 10 student arrest

आज कल युवा और बच्चों में ऑनलाइन गेम पबजी को लेकर दीवानगी बढ़ती जा रही है, जो उनके लिए अब घातक साबित होता जा रहा है। डाॅक्टरों के मुताबिक पबजी गेम बच्चों और युवाओं को हिंसक बना रहा है। ऐसे में एक मामला सामने में आया है, जिसमें पुलिस ने पबजी गेम खेलने वाले 10 छात्रों को गिरफ्तार किया है।

ये छात्र गार्डन में ऑनलाइन गेम खेल रहे थे। दरअसल, गुजरात के राजकोट में काॅलेज के 10 छात्रों को पुलिस ने पबजी गेम खेलते हुए अरेस्ट किया है। बताया जा रहा है कि गुजरात के कई जिलोें में पांच दिन पहले पबजी को बैन करने के लिए नोटिस जारी किए हैं, जिसके तहत ये कार्रवाई की गई।

PUBG Game का खतरनाक सच, जानिए कैसे बढ़ा रहा हिंसा

बच्चों और युवाओं में ऑनलाइन गेम खेलने का शौक सिर चढ़ कर बोल रहा है, लेकिन ये गेम अब उनके लिए घातक साबित होने लगे हैं। ऑनलाइन गेम में डूबे रहने वाले बच्चे अब सीधे अस्पताल पहुंच रहे हैं। इसमें अकेले पबजी गेम से पीड़ित चार से पांच बच्चे अस्पताल की चैखट पर पहुंच रहे हैं। पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम में पबजी गेम का जिक्र करते हुए इससे दूर रहने की अपील की थी। आॅनलाइन गेम की लत से नौकरी पेशा वाले लोग भी परेशान है और अब वह काउंसिलिंग के लिए डाॅक्टरों के पास पहुंच रहे हैं। काउंसिलिंग के दौरान बच्चों और युवाओं ने सबसे ज्यादा पबजी बैटल गेम को ही पसंद किया है।

डॉक्टरों का मानना है कि ब्लू व्हेल के बाद पबजी दूसरा सबसे ज्यादा लत लगाने वाले गेम के रूप में सामने आया है, जो तनाव का कारण बनते जा रहे हैं। इतना ही नहीं, इस कारण बच्चे और युवा हिंसक भी होने लगे हैं। मनारोग विशेषज्ञों की माने तो आॅनलाइन गेम खेलने से अकेलापन और तनाव बढ़ता जा रहा है। बाद में ये हिंसक रूप ले लेता है। एम्स सहित दुनियाभर के डॉक्टरों का हवाला देते हुए मुंबई हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका पर आईटी मंत्रालय, मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया, महाराष्ट्र सरकार, माइक्रोसॉफ्ट कंपनी और पबजी गेम के यूएस निवासी सीईओ को नोटिस भेजा है।

Read More : PUBG Game का खतरनाक सच, जानिए कैसे बढ़ा रहा हिंसा

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com