सोलर मेन आफ इंडिया के नाम से मशहूर प्रोफ़ेसर चेतन सोलंकी मल्हाराश्रम भूतपूर्व विद्यार्थी संघ द्वारा सम्मानित

0
104

इंदौर। शहर के 100 वर्ष पुराने मल्हाराश्रम स्कूल ने हजारो प्रतिभाए, वैज्ञानिक, लीडर, पत्रकार, बिजनेसमैन, पोलिटिशियन, शिक्षाविद एवं खिलाडी दिए है। इन्ही हस्तियों में से एक है सोलर मेन आफ इंडिया के नाम से मशहूर प्रोफ़ेसर चेतन सोलंकी जो की वर्तमान में IIT बोम्बे में प्रोफ़ेसर है।

मध्य प्रदेश के खरगौन जिले के छोटे-से भीकनगांव में जन्मे चेतन सोलंकी ने मल्हाराश्रम इंदौर से 1991 में 12 वी एवं इंदौर के गोविन्दराम सेकसरिया संसथान से 1997 में बी.ई. किया। इसके बाद आप IIT मुंबई से मास्टर करके सोलर उर्जा में पी एच. डी. करने बेल्जियम चले गए थे। मल्हाराश्रम से निकलकर बेल्जियम के आइएमईसी से पीएचडी और आइआइटी बंबई में प्रोफेसर बनने तक के सफर में सोलंकी ने प्रौद्योगिकी ज्ञान और विशेषज्ञता को समाज के हित में उपयोग करने की राह पकड़ी और आज भी उस पर अडिग हैं।

स्कूल के एलुमनाई एसोसिएशन के मीडिया प्रभारी नीरज राठौर ने बताया की प्रो. चेतन सोलंकी जी के सोलर उर्जा के क्षेत्र में दिए गए असाधारण योगदान को देखते हुए मल्हाराश्रम भूतपूर्व विद्यार्थी संघ द्वारा आपका आज इंदौर के चमेली देवी संसथान में एक कार्यक्रम के दौरान सम्मान किया गया। इस अवसर पर मल्हाराश्रम के बालकृष्ण राठौर, दिलीप सोनी, मनीष वैद्य, विनोद कटारिया, विजय शंकर शर्मा, सुखदेव बम्बोरिया, विनोद जैसवाल, अनुराग गीते, शैलेश सिंह रेनवाल, सचिन करवड़े, मुकेश उपाध्याय एवं किशन बिसल्पुरे राठौर विशेष रूप से उपस्थित थे।

कार्यक्रम के अंत में आभार प्रदर्शन सुखदेव बम्बोरिया द्वारा किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here