Breaking News

प्रियंका का मिशन 2019: न लंच, न डिनर, सिर्फ संगठन को मजबूत करना है लक्ष्य

Posted on: 13 Feb 2019 10:52 by Surbhi Bhawsar
प्रियंका का मिशन 2019: न लंच, न डिनर, सिर्फ संगठन को मजबूत करना है लक्ष्य

कांग्रेस की महासचिव बनने और उत्तर प्रदेश का प्रभार मिलने के बाद प्रियंका गांधी काफी एक्टिव नजर आ रही है। यूपी को जीतने के लिए वह कड़ी मेहनत कर रही है। प्रियंका की मेहनत का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि उन्होंने बिना लंच और डिनर किए लगातार 16 घंटे कार्यकर्ताओं की बैठक ली। मंगलवार करीब दोपहर 1:20 बजे शुरू हुई प्रियंका की बैठक बुधवार अल सुबह 5:15 बजे ख़त्म हुई। इस दौरान वह लगातार कार्यकर्ताओं से विचार विमर्श करती रहीं और उनके दिल की बातें भी सुनती रहीं।

कांग्रेस के डूबते राजवंश को बचाने के लिए और कितने झूठ : जेटली

कार्यकर्ताओं की ली क्लास

प्रियंका गांधी को यूपी का प्रभार मिलने के बाद से वह लगातार संगठन को मजबूत करने की कोशिश में लगी हुई हैं। मंगलवार से शुरू हुई लगातार 16 घंटे की बैठक में उन्होंने कार्यकर्ताओं के दिल की बात सुनी। हर कार्यकरता के पास अपनी बात रखने का 5 से 15 मिनट का समय था। प्रियंका का कहना था कि मैं आपके दिल की बात सुनने आई हूं। आप अपनी पूरी बात कहिये।

Priyanka Gandhi Enters In Politics | क्या पति को बचाने के लिए Politics में आई Priyanka Gandhi

इस दौरान प्रियंका ने पार्टी कार्यकर्ताओं को दो टूक कह दिया कि पुरानी कांग्रेस से काम नहीं चलेगा। पार्टी को नए सिरे से शुरुआत करनी होगी। जब उनसे आग्रह किया गया कि वह फूलपुर से चुनाव लड़े, तो उन्होंने कहा कि मुझे कई जगहों से चुनाव लड़ने के लिए दबाव बनाया जा रहा है लेकिन मैं चुनाव नहीं लडूंगी। मैं संगठन को मजबूत करने का काम करूंगी।

रायबरेली फॉर्मूला

बैठक के दौरान प्रियंका गांधी ने कार्यकर्ताओं को जी जान से कोशिश करने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि रायबरेली और अमेठी में भी कमिटी की समस्या थी। वहां भी मैंने हर कमिटी में जरुरत से ज्यादा लोगों की छटनी की। अब प्रदेश में भी रायबरेली फ़ॉर्मूला लागू किया जाएगा। हालांकि उन्होंने कहा कि अभी लोकसभा चुनाव में काफी कम समय बचा है। ऐसे में कमिटी में फेरबदल चुनाव के बाद ही होगा। दिलहाल कार्यकर्ताओं को चुनाव के लिए जी जान से कोशिश करना होगी।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com