प्रियंका गेलड़ा ने शिक्षा क्षेत्र को बनाया लक्ष्य…

0
10

इंदौर। आपने देखा होगा कि पढ़ाई करते समय ही कई लोग अपने करियर के बारे में निर्णय ले लेते हैं और उसी दिशा में आगे बढ़ते हैं। इंदौर के गुमास्ता नगर में जीएसआई किड्स केस्टर स्कूल की संचालिका प्रियंका गेलड़ा ने भी अपनी स्टूडेंट लाइफ की शुरुआत में ही तय कर लिया था, कि उन्हें एक अच्छी टीचर बनना है। शिक्षा के क्षेत्र में काम करके जो संतुष्टि मिलती है, वह अन्य में कहां मिलती है। शिक्षा के क्षेत्र को ही उन्होंने अपना लक्ष्य बना लिया। वे १२वीं पढ़ती थी, तब से ही कोचिंग पढ़ा रही हैं। पढ़ाई करते-करते ही उन्होंने निजी स्कूलों में नौकरी भी की और एमकॉम व एमफिल भी किया। उन्हें समाज में मान-सम्मान भी मिला और वे समाजसेविका के रूप में भी कई संस्थाओं से जुड़ी हैं।

priynka

घमासान डॉटकॉम से विशेष बातचीत में प्रियंका जी कहती हैं-जब मैं १२वीं क्लास में थी, तब से ट्यूशन पढ़ा रही हूं। शुरू से ही मेरा सपना टीचर बनने का था। पढ़ाई भी जारी रखी और मैंने प्राइवेट स्कूलों में नौकरी भी की। बाद में शादी हो गई तो पति विनोद गेलड़ा भी इसी लाइन में कार्य करते थे। तो उन्होंने मेरा काफी सपोर्ट किया। फिर हमने अपना बिजनेस करने की सोची। तब हमने ज्ञान सागरम के नाम से स्पोकन इंग्लिश और कम्प्यूटर क्लास खोली। यहां हैंडराइटिंग सुधारने की क्लासेस भी लगाई। क्लासेस बढ़ाई और कालांतर में ब्रांचेस बढ़ाकर विस्तार किया। ये इंस्टिट्यूट नरेंद्र तिवारी मार्ग पर शुरू किया था। ६ साल पहले हमने प्राइमरी स्कूल जीएसआई किड्स केस्टल प्री स्कूल की शुरुआत गुमास्ता नगर में की। मौजूदा समय में मैं और मेरे पति इसका संचालन कर रहे।

प्रियंका जी बताती हैं कि वे स्कूल और शिक्षा क्षेत्र के अलावा सामाजिक संस्थाओं और लायनेस क्लब यूनिक से जुड़ी हूं। वहां डोनेशन, कैम्प और अन्य एक्टिविटी में शामिल होती हूं। इसके अलावा जैन सोशल ग्रुप से भी जुड़ी हूं। प्रियंका जी ने एमकॉम और एमफिल किया है। आपकी हॉबी लीडिंग और डांसिंग है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here