Breaking News

फिर महंगे हुए पेट्रोल-डीजल के दाम , जानिए नई रेट लिस्ट

Posted on: 27 Jun 2019 09:51 by Ayushi Jain
फिर महंगे हुए पेट्रोल-डीजल के दाम , जानिए नई रेट लिस्ट

नई दिल्ली : कच्‍चे तेल के भाव में तेजी के बीच पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ गए हैं। लगातार दो दिन की स्थिरता के बाद यह बढ़ोतरी देखने को मिली है। काफी समय से पेट्रोल और डीजल के दाम में स्थिरता थी और बीते गुरुवार को पेट्रोल की कीमतों में 7 पैसे की बढ़ोतरी हुई जबकि डीजल 5 से 6 पैसे तक महंगा हो गया है। इससे पहले सोमवार को पेट्रोल कि कीमतों में बढ़ोतरी दर्ज की गई थी।

क्‍या है नई रेट लिस्‍ट

इंडियन ऑयल की वेबसाइट की माने तो दिल्ली में पेट्रोल की नई कीमत 70.12 रुपये प्रति लीटर हो गई है। इसी तरह मुंबई, कोलकाता और चेन्नई में पेट्रोल के लिए ग्राहकों को क्रमश: 75.82 रुपये, 72.38 रुपये और 72.84 रुपये प्रति लीटर भुगतान करना पड़ेगा। वहीं अगर डीजल की बात करें तो चारों महानगरों में कीमतें क्रमश: 63.95 रुपये, 67.05 रुपये, 65.87 रुपये और 67.64 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गई हैं।

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में पिछले दिनों कच्चे तेल के दाम में बढ़ोतरी से पेट्रोल और डीजल की कीमतों में फिर वृद्धि होने लगी है। दो दिनों में दिल्ली, कोलकाता और मुंबई में पेट्रोल और के दाम में 12 पैसे जबकि चेन्नई में 13 पैसे प्रति लीटर का इजाफा हुआ है। इंदौर में कल वाले भाव आज भी बरकरार है .

रोज सुबह 6 बजे तय होते हैं भाव
ऑयल मार्केटिंग कंपनियां (OMC) भाव की समीक्षा के बाद रोज पेट्रोल रेट (Petrol Rate) और डीजल रेट (Diesel Rate) तय करती हैं। इंडियन ऑयल (Indian Oil), भारत पेट्रोलियम (Bharat Petrolium) और हिंदुस्तान पेट्रोलियम (Hindustan Petrolium) रोज सुबह 6 बजे पेट्रोल (petrol) और डीजल (diesel) की दरों में संशोधन कर जारी करती हैं।

आगे कीमतों में तेजी की संभावना-
अगर आने वाली कीमतों की बात करें तो कच्‍चे तेल के भाव में बढ़ोतरी की वजह से पेट्रोल और डीजल की कीमतों में इजाफा होने की आशंका है। माना जाता है कि रिकी एजेंसी एनर्जी इन्फोरमेशन एडमिनिस्ट्रेशन की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक पिछले सप्ताह 21 जून को कच्चे तेल का भंडार 128 लाख बैरल घट गया और एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट (इनर्जी व करेंसी रिसर्च) अनुज गुप्ता ने कहा कि ”ईरान-अमेरिका के बीच जारी तनाव के कारण कच्चे तेल की आपूर्ति प्रभावित होने की आशंका से भाव में तेजी का रुख पहले से ही बना हुआ था, लेकिन अमेरिका में लगातार तेल का भंडार घटने से इस कच्चे तेल की तेजी को और सहारा मिला है.” वहीं अनुज गुप्‍ता ने कहा कि ”अमेरिका और चीन के बीच व्यापारिक विवाद सुलझाने की दिशा में सकारात्मक संकेत मिलने से आने वाले दिनों में तेल की मांग बढ़ेगी जिससे कीमतों में और तेजी आने की संभावना बनी हुई है.”

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com