इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर के ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में 17वें प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन का आयोजन चल रहा है। सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल हुए। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू आज प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन के समापन सत्र में हिस्सा लेने के लिए इंदौर पहुंच गई है। करीब 70 देशों के 3500 से अधिक प्रतिनिधि इंदौर में हो रहे इस कार्यक्रम में शामिल हुए है।

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि लंबे अरसे के बाद प्रत्यक्ष रूप से प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन का आयोजन हुआ। यहां भाग लेकर मैं बेहद खुश हूं। दुनियाभर से आई हस्तियों का आभार, जो उन्होंने प्रवासी भारतीयों के लिए आयोजित सम्मेलन में भाग लिया। मुझे उम्मीद है कि जिन्हें भी सम्मान मिला है, यह उन्हें भविष्य में और बेहतर करने के लिए प्रेरित करेगा। यह एक यूनिक प्लेटफॉर्म है, जो भारत और प्रवासी समुदाय को जोड़ता है। महात्मा गांधी नौ जनवरी को भारत लौटे थे और इसी की याद में प्रवासी भारतीय दिवस मनाया जाता है। देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। अमृत काल में भारत की प्रगति में प्रवासी भारतीयों की अहम भूमिका है। सरकार ने कई पहल की है। यह प्रवासी भारतीयों के हितों का ध्यान रखने के लिए है। उन्हें हम नेशन बिल्डिंग में भी जोड़ रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि प्रवासी भारतीयों की हमारे दिलों में खास जगह है। वे न केवल हमारे विस्तारित परिवार के सदस्य हैं, बल्कि उनका भारत की तरक्की में अहम योगदान रहा है।

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने 27 प्रवासी भारतीयों को सम्मानित किया।

1. प्रो. जगदीश चेन्नुपति, आस्ट्रेलिया, विज्ञान और प्रौद्योगिकी/शिक्षा
2. प्रो. संजीव मेहता, भूटान, शिक्षा
3. प्रो. दिलीप लौंडो, ब्राज़ील, कला और संस्कृति/शिक्षा
4. डा. अलेक्जेंडर मलाइकेल जॉन, ब्रुनेई दारुस्सलाम मेडिशन
5. डा. वैकुंठम अय्यर लक्ष्मणन, कनाडा, समाजसेवा
6. जोगिंदर सिंह निज्जर, क्रोएशिया, कला और संस्कृति/शिक्षा
7. प्रो. रामजी प्रसाद, डेनमार्क, सूचना प्रौद्योगिकी
8. डा. कन्नन अम्बलम, इथियोपिया, समाजसेवा
9. डा. अमल कुमार मुखोपाध्याय, जर्मनी, समाजसेवा/चिकित्सा
10. डा. मोहम्मद इरफान अली, गुयाना, राजनीति/समाजसेवा
11. रीना विनोद पुष्करणा, इजराइल, व्यवसाय/समाजसेवा
12. डा. मकसूदा सरफी श्योतानी, जापान, शिक्षा
13. डा. राजगोपाल, मैक्सिको, शिक्षा
14. अमित कैलाश चंद्र लठ, पोलैंड, व्यवसाय/समाजसेवा
15. परमानंद सुखुमल दासवानी, कांगो गणराज्य, समाजसेवा
16. पीयूष गुप्ता, सिंगापुर, व्यवसाय
17. मोहनलाल हीरा, दक्षिण अफ्रीका, समाजसेवा
18. संजयकुमार शिवभाई पटेल, दक्षिण सूडान, व्यवसाय/समाजसेवा
19. शिवकुमार नदेसन, श्रीलंका, समाजसेवा
20. डा. देवनचंद्रभोज शरमन, सूरीनाम, समाजसेवा
21. डा. अर्चना शर्मा, स्विटजरलैंड, विज्ञान प्रौद्योगिकी
22. न्यायमूर्ति फ्रैंक आर्थर सीपरसाद, त्रिनिदाद और टोबैगो, समाजसेवा/शिक्षा
23. सिद्धार्थ बालचंद्रन, संयुक्त अरब अमीरात, व्यवसाय/समाजसेवा
24. चंद्रकांत बाबूभाई पटेल, यूके, मीडिया
25. डा. दर्शन सिंह धालीवाल, अमेरिका, व्यवसाय/समाजसेवा
26. राजेश सुब्रमण्यम, अमेरिका, व्यवसाय
27. अशोक कुमार तिवारी, उज़्बेकिस्तान, व्यवसाय

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मेरा मन भाव-विभोर है। तीन दिन तक आपका साथ रहा। इंदौर आपसे एक रूप हो गया। सचमुच में इंदौर ने तैयारी वैसी की, जैसी बेटी की शादी के लिए करते हैं। बेटी की शादी जैसा इंदौर का स्वागत-सत्कार। जब बेटी की बिदाई होती है तो मन में तकलीफ भी होती है। तीन दिन आनंद, उत्सव और उमंग के थे। तीन दिन कैसे कट गए, पता ही नहीं चला। अब मन सोचकर भारी हो रहा है कि आप चले जाओगे। यहीं रह जाओ न। जो बात इस जगह है, वह कही भी नहीं।

केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्‍योतिरादित्‍य स‍िंंध‍िया ने कहा कि इस मौके पर मां अ‍ह‍िल्‍या की नगरी में वे सबका तहेद‍िल से स्‍वागत करते हैं। उन्‍होंने कहा कि भारत का कोई भी सपूत कहीं भी रहे वो भारत से जुदा नहीं हो सकता। उन्‍होंने कहा कि हमें विश्वास है कि यहां सबको अतुल्‍य संगम का अहसास हुआ है। किसी व्यक्ति की पहचान उसकी माटी और शरीर से होती है। भारत की जनसंख्या 135 करोड़ नहीं 138 करोड़ है तीन करोड़ हमारे भारतीय प्रवासिय है।

नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि भारतीयों का दबदबा आज पूरी दुनिया में है। इंग्लैंड के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक हो या सत्या नडेला, हर जगह भारतीयों का दबदबा कायम हो रहा है। प्रवासी भारतीय हमारे देश की पहचान को बढ़ा रहे हैं। मैं कहता हूं कि भारतीय सिर्फ 135 करोड़ नहीं है, बल्कि 138 करोड़ है, जिनमें तीन करोड़ प्रवासी भारतीय हैं।

Also Read – प्रवासी भारतीय सम्मेलन LIVE: जयपुर के कुमरावत ने राष्ट्रपति को भेंट की खास पेंटिंग, इसमें गोल्डन कलर का भी हुआ इस्तेमाल

इंदौर आगमन के दौरान जयपुर के चांदमल कुमरावत ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू की एक पेंटिंग उन्हें भेंट की। चांदमल कुमरावत अब तक आठ राष्ट्रपतियों को इस तरह की पेंटिंग बना कर दे चुके हैं। वह बताते हैं कि इस पेंटिंग में ऑयल कलर के अलावा गोल्डन कलर और वर्क का भी इस्तेमाल हुआ है। सात ग्राम गोल्ड का कलर तैयार कर राष्ट्रपति के चश्मे की फ्रेम और आभूषण बनाए गए। चांद इस पेंटिंग को जयपुर से बना कर लाए थे और इंदौर में उसे नक्काशीदार लकड़ी में फ्रेम करवाया।

इंदौर के ‘प्रवासी भारतीय सम्मेलन’ में कुवैत की कंपनी का बड़ा फ़ैसला सामने आया है। इंदौर के सम्मेलन में हिस्सा लेने आए कई कंपनियों के प्रतिनिधि राज्य में निवेश करने के लिए तैयार हैं। कुवैत की एक कंपनी मध्यप्रदेश में क़रीब 26 हजार करोड़ का निवेश करेगी, जिससे ढाई हजार से अधिक लोगों को रोजगार मिल सकता है।

केंद्रीय शिक्षा एवं कौशल विकास मंत्री धमेंद्र प्रधान ने कहा- इंदौर की रानी अहिल्याबाई होलकर अपने अच्छे शासन के लिए जानी जाती हैं। हम कभी सैन्य शक्ति नहीं बनाना चाहते हैं। हम चाहते हैं कि दुनिया भारत को एक नए तरीके से देखें। हम लोग कड़ी मेहनत करने वाले लोग हैं। कई मामलों में दुनिया में अग्रणी है। हमारे यहां पर स्वीपर से लेकर राकेट सांइटिस्ट तक है, लेकिन जैसे हम हर साल फोन बदलते हैं, ताकी नए फीचर मिल सके। उसी तरह भारतीय कर्मचारियों को विश्वभर में सम्मान मिल सके। मुझे गर्व है कि अगले दो साल में भारत में ऐसा कोई गांव नहीं होगा, जहां पर इंटरनेट कनेक्शन नहीं होगा।

Also Read – प्रवासी भारतीय सम्मेलन LIVE: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा- NRI भारत के बांड का प्रमोशन करे

प्रवासी भारतीय सम्मेलन के अंतिम सत्र में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया प्रवासी भारतीयों को संबोधित करेंगे। इसके बाद राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू प्रवासी भारतीयों को सम्मानित करने के साथ ही प्रवासियों को संबोधित करेंगी, जिसके बाद विदेश राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन करेंगे आभार व्यक्त करेंगे।

प्रवासी भारतीय सम्मेलन में शामिल मेहमानों की कोरोना जांच भी की जा रही है। सोमवार को 283 लोगों की जांच की गई। एक भी रिपोर्ट पॉजिटिव नहीं आई है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में “राष्ट्र निर्माण के लिए एक समावेशी दृष्टिकोण की दिशा में प्रवासी महिला उद्यमियों की क्षमता का उपयोग करना” विषय पर विस्तृत चर्चा की जा रही है। वहीं इस मौके पर राज्यपाल मंगुभाई पटेल द्वारा भोज का आयोजन किया गया है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन ने कहा कि एक जिला एक उत्पाद पर सरकार काम कर रही है। हर जिले के उत्पाद को पहचान कर उसे आगे बढ़ाएंगे। एनआरआइ भारत के बांड का प्रमोशन करे। बनारसी साड़ी, कांजीवरम सिल्क, मैसूर सिल्क, नागालैंड के बांस उत्पाद जैसे कई उत्पादन भारत में हैं। हमने हॉलीवुड की किसी फिल्म के बजट से कम बजट में चंद्रयान प्रोजेक्ट किया। हम 50 में से 60 प्रकार के हीरे की कटिंग और पालिश का काम भारत में कर रहे है।

उन्होंने आगे कहा- भारत के सॉफ्टवेयर इंजीनियर कोडिंग कर मोबाइल से गीजर चालू करने, खाना गर्म करने, कार और मोबाइल के सॉफ्टवेयर और कोडिंग पर काम कर रहे हैं। चालक रहित कार के निर्माण में 30 प्रतिशत योगदान भारतीय इंजीनियर का है।

प्रवासी भारतीय सम्मेलन में शामिल होने के लिए राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू इंदौर पहुंच चुकी है। राष्ट्रपति इंदौर में सात घंटे रहेंगी और कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगी। तीन दिवसीय प्रवासी भारतीय दिवस कार्यक्रम 8 जनवरी को शुरू हुआ, जो 10 जनवरी तक चलेगा। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू विदेशों में अपने अपने क्षेत्र में विशिष्ट उपलब्धियां हासिल करने और अपनी अलग पहचान बनाने वाले प्रवासी भारतीयों को सम्मानित भी करेंगी। राष्ट्रपति 57 भारतवंशियों को प्रवासी भारतीय सम्मान प्रदान करेंगी।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने राष्ट्रपति मुर्मू का एयपोर्ट पर स्वागत किया। उन्होंने ट्वीट किया, ‘महामहिम राष्ट्रपति श्रीमती द्रोपदी मुर्मु जी का मां अहिल्या की नगरी इंदौर में हार्दिक स्वागत एवं अभिनंदन है। इंदौर और मध्यप्रदेश के लिए आज दुर्लभ अवसर और गर्व का विषय है। इंदौर का मंच आज तीन देशों के राष्ट्रपति की गरिमामयी उपस्थिति का साक्षी होगा।’ राज्यपाल मंगूभाई पटेल और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उनका स्वागत किया।