Breaking News

बंगाल में TMC-BJP आमने-सामने, पीएम मोदी और शाह के बैनर पोस्टर हटे | Political Controversy increasing in West Bengal between BJP and TMC

Posted on: 14 May 2019 17:36 by bharat prajapat
बंगाल में TMC-BJP आमने-सामने, पीएम मोदी और शाह के बैनर पोस्टर हटे | Political Controversy increasing in West Bengal between BJP and TMC

पश्चिम बंगाल में भाजपा और टीएमसी के बीच राजनैतिक विवाद लगातार बढ़ता जा रहा है। जिसके चलते प्रदेश में बीजेपी की मुश्किले बड़ती जा रही है। बता दे कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की रैली से पहले प्रदेश पुलिस सभा के कागजात मांगने पंहुची थी। साथ ही पेपर ना दिखाने पर मंच तक तोड़ देने की बात कह दी थी।

विवाद बढ़ता देख बीजेपी कार्यकर्ता सभा स्थल पर जमा हो गए थे लेकिन इसी बीच सड़कों से प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह समेत भाजपा के कई होर्डिंग, पोस्टर और बैनर को हटा दिया गया।

कोलकाता पुलिस ने चुनाव आयोग के आदेश पर पोस्टर-बैनर हटाने की बात कही है। वही भाजपा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और टीएमसी पर मनमर्जी करने का आरोप लगा रही है। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और पश्चिम बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने टीएमसी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि ‘ ये नागवार हरकत ठीक नहीं! भाजपा अध्यक्ष अमित शाह जी की कोलकाता रैली को फेल करने के लिए ममता सरकार कोई कसर नहीं छोड़ रही! स्वागत मंच नहीं लगाने दिए गए और सड़क के दोनों और लगाए गुब्बारे और होर्डिंग भी निकाल दिए गए। ये राजनीतिक वैमनस्यता बहुत भारी पड़ेगी दीदी!’

अपने दूसरे ट्वीट में विजयवर्गीय ने कहा कि ‘अमित शाह जी की रैली में अड़ंगेबाजी, पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी ने भाजपा को परेशान करने के लिए प्रशासन को खुला छोड़ रखा है। अमित शाह जी की रैली में अड़चन डालने के लिए लाऊडस्पीकर को पुलिस ने मुद्दा बना लिया है। ये चुनावी आचार संहिता है या ममता सरकार की हठधर्मी?’

गौरतलब है कि मंगलवार को कोलकाता में होने वाली भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की रैली से पहले बंगाल पुलिस सभास्थल पर पहुंच गई थी और पुलिस ने वहां स्टेज से जुड़े परमिशन मांगे हैं और पेपर न देने पर मंच को तोड़ने की बात कही थी।

बता दे कि सोमवार को पश्चिम बंगाल में अमित शाह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमन्त्र योगी आदित्यनाथ की रैलियां होने वाली थी लेकिन ये रैलियां रद्द कर दी गई। अमित शाह जादवपुर में रैली करने वाले थे, जबकि योगी आदित्यनाथ की रैली 15 मई को होने वाली थी।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com