Breaking News

वेदांता ग्रुप के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों पर पुलिस ने बरसाई गोलियां, 11 लोगों की मौत कई घायल

Posted on: 22 May 2018 15:26 by Lokandra sharma
वेदांता ग्रुप के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों पर पुलिस ने बरसाई गोलियां, 11 लोगों की मौत कई घायल

तमिलनाडु: तूतीकोरिन ज़िले के रहवासी कई दिनों से वेदांता समूह की कंपनी स्टार लाईट कॉपर के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे. मंगलवार को इस प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया जिसमें 11 लोगों की मौत हो गयी. इस हिंसक झड़प में 40 से ज़्यादा लोगों के घायल होने की ख़बर भी आ रही है जिनमें से कई पत्रकार और फोटोग्राफर भी है.

दरअसल इस इलाके में कंपनी के खिलाफ करीब एक महीने से प्रदर्शन किया जा रहा था, स्थानीय रहवासियों का कहना है कि इस कंपनी से प्रदुषण फ़ैल रहा है. जिनकी वजह से शहर में कई तरह की बिमारियों ने घर कर लिया है. मगर मंगलवार को इस प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया. आम लोगों की पुलिस से झड़प हुई जिसमें पुलिस ने गोलीबारी शुरू कर दी जिसमें 11 लोगों की मौत हो गयी.

इस पुरे मामले पर पुलिस अधिकारीयों का कहना है कि पहले भीड़ ने पुलिस पर पत्थर फेंकना शुरू किये स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए पुलिस ने लाठी चार्ज किया किन्तु जब परिस्थिति बेकाबू हो गयी तब पुलिस को गोलियां चलाना पड़ी.

बता दें यह कंपनी हाल ही के दिनों में शहर में एक और यूनिट खोलने जा रही थी. मगर बढ़ते विरोध को देखते हुए उसने फ़िलहाल अपने इस प्लान को आगे बढ़ा दिया है. मामले को देखते हुए पुलिस ने अपना सैन्य बल बढ़ा लिया है, वहीं इस मामले पर राजनीति भी तेज हो गयी है. डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन ने पुलिस की गोलीबारी की कड़ी निंदा की है. वहीं राज्य सरकार ने प्रदर्शनकारियों से शांति बरतने की अपील की है और प्लांट के ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्रवाई का आश्वासन दिया है.

बता दें इस फैक्ट्री में धातु गलाया जाता है और एक साल में चार लाख टन तांबे का तार बनाया जाता है. कंपनी अपने प्रोडक्ट को और बढ़ाना चाहती है, कंपनी की योजना है कि वो हर साल 80 हज़ार टन तांबे के तार का उत्पादन करे. तूतीकोरिन ज़िले की इस यूनिट पर प्रदूषण को लेकर कई गंभीर आरोप हैं.

 

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com