इंदौर। पुलिस थाना भवरकुआं को सूचनाकर्ता द्वारा बताया कि अपने साथी चंबल रेस्टोरेंट के संचालक अक्षय सिंह जादौन के साथ मोटरसाईकल से जा रह थे तभी प्रतिक्षा शराब दुकान के सामने वाली रोड़ पर 5-6 बदमाश अपनी मोटरसाईकल KTM MP09VB7130 तथा इनोवा कार क्रमांक MP09BA9767 से आये व KTM पर बैठे बदमाशो ने मेरी गाडी की चाबी निकालकर मेरे साथी अक्षय सिंह के पेट पर चाकू व पिस्टल आड़ाकर बोले की तु इनोवा कार में बैठ नही तो यही निपटा देगें।

बदमाश अक्षय सिंह को जबरदस्ती अपनी इनोवा कार में बैठाकर बोले की अक्षय को जिंदा देखना है, तो 25 लाख रुपये की व्यवस्था हमारे बताये स्थान पर कर देना अगर पैसो की व्यवस्था नही तो अक्षय के 25 टुकडे कर उसके घर भेज देंगे। जिसमें से से दो लोग मोटरसाईकल से तथा चार लोग इनोवा कार में अक्षय को चाकू की नोक पर जबरजस्ती बैठाकर तेजी से भाग गये है। फरियादी की रिपोर्ट पर थाना भंवरकुआं पर अपराध क्रमांक 1032/2022 धारा 364ए भा.द.वि. का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

उक्त घटना की गंभीरतम प्रवृत्ति को देखते हुए पुलिस आयुक्त नगरीय इंदौर हरिनारायणचारी मिश्र एवं अतिरिक्त पुलिस आयुक्त मनीष कपूरिया द्वारा तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए गए। जिसके अनुक्रम में पुलिस उपायुक्त ज़ोन 4 आर.के. सिंह एवं अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त ज़ोन 4 प्रशांत चौबे द्वारा दिए गए दिशा निर्देशानुसार घटना को चुनौती मानकर सहायक पुलिस आयुक्त जूनी इन्दौर व भँवरकुआं पुलिस टीम के व्दारा बदमाशो के व्दारा अपृहत किये अक्षय सिंह तथा बदमाशो की पतारसी हेतु राऊ बायपास, तेजाजी नगर इन्दौर, सिमरोल क्षेत्र में फरियादी व्दारा बताई हुलिये की इनोवा कार को सीसीटीव्ही फुटेज में खगालते हुये इनोवा वाहन मालिक के पते पर तस्दीक करते वाहन को सर्विसिंग के लिये रामलखन रजक के सर्विसंग के लिये रखना बताया व सर्विसिंग से वरुण वाधवानी के व्दारा मांग कर ले जाने का बताया।

पुलिस अपने मुखबिर तंत्र को सक्रिय किया जाकर जानकारी प्राप्त हुई की पीडित अपृहत को अपहरणकर्ता इनोवा कार में अपहरणकर्ता व्दारा संचालित पीजी हॉस्टल में लेकर गये है. पुलिस टीम व्दारा घेराबंदी कर बदमाशो को पकड़ा तथा बदमाशो के कब्जे से अपृहत अक्षय सिंह को सकुशल छुडाया। बदमाशो प्रतिक्षा वाईन शॉप रिंग रोड़ के पास से रेस्टोरेंट संचालक को मोटरसाइकिल पर सवार आरोपियों द्वारा चाकू की नोक पर अपनी इनोवा कार में बैठाकर किया था अगवा और पीडित के साथी से मांगी थी 25 लाख रुपये की फिरौती।

गिरफ्तार किये गये बदमाशो की पहचान 1- रामलखन पिता मुन्नालाल रजक निवासी बाबा चौपाटी भोलाराम गेट इन्दौर, 2- वरुण पिता संजय वाधवानी निवासी शांतिनाथपुरी हवा बंगला इन्दौर, 3- विशाल पिता किशन यादव निवासी पिपलियाराव इन्दौर, 4- ललित उर्फ लल्ला पिता हीरालाल निवाशी बंशीधाम कालोनी पिपलियाराव इन्दौर के रुप में हुई। प्रकरण में मौके से फरार अन्य छः आरोपियो को पुलिस के व्दारा गिरफ्तार किया गया । जिनके नाम क्रमशः 5- सौरभ पारमार निवासी पिपलियाराव इन्दौर, 6- मनीष निवासी पिपलियाराव इन्दौर, 7- भास्कर पिता कृष्णकांत शर्मा निवास पटना (बिहार) हाल निवास इन्दौर 8- राहुल सोलंकी निवासी इन्दौर 9- अविनाश कुमार निवासी इन्दौर 10- कृष्णकांत शर्मा निवासी पटना (बिहार) हाल निवास इन्दौर है ।

बदमाशो में कुख्यात सूचीबद्ध बदमाश भी है शामिल, जिसमे दो सगे भाई रा.सुका. के तहत डिटेंशन से छुटने के तत्काल बाद करने वाले थे, फरौती की बडी वारदात को अंजाम देना चाहते थे। पुलिस द्वारा आरोपियों को गिरफ्तार कर, बदमाशो से घटना में प्रयुक्त एक ईनोवा कार व KTM मोटर साईकल सहित एक तेज धारदार चाकू और एक पिस्टल बरामद की गई हैं। घटना के संबंध में गिरफ्तारशुदा आरोपियो से विस्तृत पूछताछ की जा रही है ।

Also Read: Indore: संभागायुक्त पवन कुमार ने मुख्यमंत्री जनसेवा अभियान के तहत प्राप्त आवेदनों का शीघ्र के निराकरण के दिए निर्देश

उक्त कार्यवाही में पुलिस टीम थाना भँवरकुआं इन्दौर उनि. आनंद राय, उनि. धर्मवीर सिंह चौहान, उनि. जयदीप राठौर, प्रआर. जितेन्द्र परमार, प्रआर. संजय पाटील, आर. श्माम, आर. कपिल, आर. केसी शर्मा, आर. ब्रजकिशोर, आर. राघवेन्द्र व साईबर एक्सपर्ट डीसीपी जोन-4, प्रआर. आशीष शुक्ला की सराहनीय भूमिका रही ।