Breaking News

मोदी की दहाड़, जान लें मुफ्ती और अब्दुल्ला- ये मोदी न झुकता है न बिकता है | Modi’s Roar, this Modi does not BEND, not even SELL

Posted on: 14 Apr 2019 14:22 by Surbhi Bhawsar
मोदी की दहाड़, जान लें मुफ्ती और अब्दुल्ला- ये मोदी न झुकता है न बिकता है | Modi’s Roar, this Modi does not BEND,  not even SELL

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे है। इसी कड़ी में आज वह जम्मू के कठुआ में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने महबूबा मुफ़्ती और फारुक अब्दुल्ला पर भी तीखा हमला बोला। मोदी ने कहा कि मैं मुफ्ती और अब्दुल्ला परिवार से कहना चाहता हूं कि मैं मोदी हूं…मैं न झुकता हूं न बिकता हूं. कांग्रेस का खून संक्रमित हो चुका है। कांग्रेस और उनके वंशवादी साथी चाहे जितनी कोशिश कर ले। मोदी उनके सामने दिवार बनकर खड़ा है।

पाकिस्तान पर प्रहार

मोदी ने पाकिस्तान पर भी प्रहार किया. उन्होंने कहा कि पहले पाकिस्तान भी NUCLEAR की धमकी देता रहता था, इनके NUCLEAR की हवा निकली की नहीं। अब ये भी धमकी दे रहें है। जम्मू और बारामुला में भारी मतदान कर आपने आतंकियों के आकाओं, पाक परस्तों और निराशा में डूबे महामिलावटियों को कड़ा जवाब दिया है।

कैप्टन अमरिंदर को भी झुकना पड़ गया

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर को लेकर मोदी ने कहा कि मैं कैप्टेन अमरिंदर सिंह को बरसों से जानता हूं। मैं समझ सकता हूं कि इस परिवार भक्ति के लिए उन पर किस तरह दबाव बनाया गया। पंजाब में जिस तरह के दांव पेंच चलाये जा रहे हैं, उसके सामने कैप्टेन को भी झुकना पड़ गया। वे कांग्रेस के नामदार के साथ जलियांवाला बाग गए। लेकिन भारत सरकार के अधिकृत कार्यक्रम में उपराष्ट्रपति के साथ जाना उन्होंने सही नहीं समझा। यही राष्ट्र भक्ति और परिवार भक्ति का फर्क है।

श्यामा प्रसाद मुखर्जी का किया जिक्र

प्रधानमंत्री ने कहा कि श्यामा प्रसाद जी का वो उद्घोष, भारतीय जनता पार्टी के लिए वचनपत्र है, पत्थर की वो लकीर है जिसे कोई मिटा नहीं सकता। ये भाजपा का हमेशा से कमिटमेंट रहा है और देश का ये चौकीदार भी इसी भावना पर अटल है और अटल रहेगा। यही वो धरती है, यही वो जगह है जहां पर श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने तिरंगा फहराया था। देश विरोधी हर ताकत को उन्होंने ललकारा था कि एक देश में दो विधान, दो प्रधान, औऱ दो निशान नहीं चलेंगे।

 

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com