आर्थिक सर्वे में दिखी अर्थव्यवस्था की तस्वीर, जाने खास बातें

0
46

कल यानी शुक्रवार को बजट पेश होने जा रहा है और आज राज्यसभा में आर्थिक सर्वे पेश कर दिया गया है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आर्थिक सर्वे को ऊपरी सदन राज्यसभा में पेश किया. इस सर्वे को देश के मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यन ने तैयार किया है.

यह हैं आर्थिक सर्वे की ख़ास बातें-

-आर्थिक सर्वेक्षण में वर्ष 2019-20 के लिए वास्तविक आर्थिक वृद्धि दर सात फीसदी रहने का अनुमान लगाया गया है. पिछले वित्त वर्ष में जीडीपी की वृद्धि दर 6.8 फीसदी पर थी.

-देश का वित्तीय घाटा 5.8 फीसदी तक जा सकता है. जबकि पिछले साल ये आंकड़ा 6.4 फीसदी पर था.

-अगर भारत को 2025 तक पांच ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था बनाना है तो लगातार आठ फीसदी की रफ्तार बरकरार रखनी होगी.

-वित्त वर्ष 2019-20 में तेल के दाम में कटौती होने का अनुमान है.

बता दें कि बजट मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम तैयार किया है और इसमें संभावना है कि पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने के रास्ते में देश के समक्ष चुनौतियों को रेखांकित किया जा सकता है. इससे पहले भी लोकसभा में कई मुद्दों पर चर्चा से पहले भाजपा अपने सांसदों को उपस्थिति देने के लिए व्हिप जारी कर चुकी है. बता देब कि, 542 सीटों वाले निचले सदन में भाजपा के 303 सांसद हैं.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट शुक्रवार को पेश करेंगी, जबकि आर्थिक समीक्षा बजट से एक दिन पहले हो रही है. इस समीक्षा में साल 2024 तक देश की अर्थव्यवस्था का आकार दोगुने से अधिक कर 5,000 अरब डालर पर पहुंचाने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लक्ष्य को पूरा करने के लिये सुधारों की विस्तृत रूपरेखा पेश किये जाने की उम्मीद है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here