बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि की हालत पतली, बिक्री में आई बड़ी गिरावट

0
24
baba ramdev

विदेश कंपनियों को टक्कर देने वाली और स्वदेसी वस्तु को बढ़ावा देने वाली कंपनी पतंजलि की हालत पतली होती जा रही है। योग गुरु बाबा रामदेव कंपनी पतंजलि को लेकर बड़े-बड़े दावे कर रहे थे, लेकिन अब लोगों का विश्वास पतंजलि प्रोडेक्ट से उठता जा रहा है। इसका साफ असर कंपनी की बैलेंस सीट पर नजर आया। देश में बने नारियल तेल और आयुर्वेदिक औषधियों जैसे निर्मित उत्पाद विदेशी कंपनियों के लिए बड़ी चुनौती के रूप में सामने आए थे।

इधर, मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पतंजलि कंपनी के प्रोडेक्ट बिक्री में 10 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई। पतंजलि के फाउंडर रामदेव ने 2017 में उम्मीद जताई थी कि मार्च 2018 तक कंपनी की बिक्री दोगुना से बढ़कर 20,000 करोड़ रुपए तक पहुंच जाएगी, मगर यहां परिणाम उलटे ही आए। पतंजलि बिक्री में 10 प्रतिशत घटकर 8,100 करोड़ रुपए रह गई। पतंजलि ने सालाना वित्तीय रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आई है।

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के सूत्रों और विश्लेषकों का कहना है कि बीते वित्त वर्ष 2018-19 में भी पतंजलि की बिक्री में और भी ज्यादा कमी आई होगी। केयर रेटिंग्स ने इस साल अप्रैल में बताया था कि 31 दिसंबर 2018 तक की तीन तिमाही में पतंजलि ने सिर्फ 4,700 करोड़ रुपए के उत्पाद बेचे गए थे। रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक पतंजलि के मौजूदा और पूर्व कर्मचारियों, सप्लायलर्स, डिस्ट्रीब्यूटर्स, स्टोर मैनेजर और उपभोक्ताओं का कहना है कि गलत फैसलों की वजह से कंपनी की महत्वाकांक्षाओं में रुकावट आई है।

उन्होंने बताया कि तेजी से विस्तार करने की वजह से पतंजलि ने गुणवत्ता बरकरार रखने पर ध्यान नहीं दिया। इधर, पतंजलि प्रबंधन का कहना है कि कंपनी के विस्तार तेजी से प्रक्रिया अपनाई गई थी, जिसमें कुछ दिक्कतें आई थी, लेकिन अब हालात सुधर गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here