Breaking News

आखिर क्या है पनामा पेपर्स, जिसने उड़ा दी है दुनियाभर के रसूखदारों की नींद

Posted on: 21 Jun 2018 09:55 by Surbhi Bhawsar
आखिर क्या है पनामा पेपर्स, जिसने उड़ा दी है दुनियाभर के रसूखदारों की नींद

नई दिल्ली: पनामा पेपर्स मामला एक बार फिर सुर्ख़ियों में आ गया है। टैक्स चोरी के इस खुलासे से दुनियाभर की तमाम बड़ी हस्तियों की नींदे उड़ा दी थी। बता दे कि यह खुलासा 2013 में पनामा की एक फर्म ‘मोसेक फोंसेका’ के सर्वर को हैक करने के बाद हुआ था। पनामा उत्तरी व दक्षिणी अमरीका को भूमार्ग से जोडऩे वाला छोटा सा देश है।तो आईए आपको बताते है आखिर क्या है पनामा पेपर्स-

पनामा पेपर्स कंपनी मोसेक फोनसेका द्वारा इकट्ठा किया हुआ 1 करोड़ 15 लाख गुप्त फाइलों का भंडार है। इनमें कुल 2,14,000 कंपनियों से सम्बंधित जानकारियां है। इस देश का इस्तेमाल धनी, ड्रग तस्कर, अपराधी व कालेधन को सफेद करने के लिए किया जाता है।पनामा पेपर मोसेक फॉन्सेका कंपनी के वो दस्तावेज हैं जो निवेशकों को कर बचाने, काले पैसे को सफेद करने और अन्य कामों से जुड़े होते हैं। पनामा पेपर्स इस तरह से काम करने वाला अपने आप में दुनिया का एक बड़ा संगठन है।Image result for पनामा पेपर्स

via

बीते एक साल में करीब 80 देशों के 100 से अधिक मीडिया संगठनों के 400 पत्रकारों ने दस्तावेजों का गहन शोध किया है।

ऐसे काम करती है फर्म-सेक फॉन्सेका फर्म विदेशियों को पनामा में शेल कंपनीज बनाने में मदद करती है, जिसके जरिए वे अपनी वित्तीय संपत्ति को अपना नाम या पता बताए बिना खरीदते हैं। वर्ष 1977 में अपने गठन के बाद से फर्म ने पनामा के बाहर दुनियाभर में 40 अधिकारियों को तैनात किया है। फर्म के ये अधिकारी दुनियाभर के अपने क्लाइंट्स को न सिर्फ पनामा, बल्कि बहमास, ब्रिटिश वर्जिन आईलैंड और अन्य टैक्स हैवन देशों में शेल कंपनीज बनाने में मदद करते हैं।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com