Breaking News

कांग्रेस का पोल खोलो-वास्तविकता बताओ अभियान

Posted on: 13 Jun 2018 13:23 by krishnpal rathore
कांग्रेस का पोल खोलो-वास्तविकता बताओ अभियान

मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने प्रदेश पर बढ़ते कर्ज को लेकर सवाल उठाते हुए कहा है कि कर्ज को लेकर प्रदेश की स्थिति दिनोदिन भयावह होती जा रही है। इससे प्रदेश का हर नागरिक चिंतित है। सरकार का पूरा खजाना खाली पड़ा है। अगली सरकार के लिये खजाने में कुछ नहीं है। सरकार निरंतर कर्ज पर कर्ज लेती जा रही है। वर्तमान वित्तीय वर्ष के प्रारंभिक महीनो में ही तीन हजार करोड़ रूपयों का कर्ज ले चुकी सरकार ने फिर एक हजार करोड़ का कर्ज लिया है। प्रदेश कर्ज के बोझ तले डूबता जा रहा है। हर व्यक्ति पर औसतन कर्ज की राशि बढ़ती जा रही है।

via

कमलनाथ ने कहा कि चुनावी वर्ष में चुनाव जीतने के लिये शिवराज सरकार दिन-प्रतिदिन नई घोषणाएँ करती जा रही है और उन घोषणाओं के नाम पर कर्ज पर कर्ज लेती जा रही है। शिवराज की ब्रांडिंग, प्रचार-प्रसार, अभियानों, यात्राओं, सम्मेलनों में सरकार करोड़ों रुपया, चुनावी वर्ष में लुटा रही है। जिससे प्रदेश पर कर्ज का बोझ और बढ़ता जा रहा है। लगता है शिवराज सरकार प्रदेश को देश में सर्वाधिक कर्ज वाले प्रदेश का तमगा भी दिलाने में लगी है।

via

श्री नाथ ने कहा कि मेंने पांच माह पूर्व भी बढ़ते कर्ज को लेकर चिंता जताते हुए शिवराज सिंह को पत्र लिखकर ‘श्वेत पत्र’ जारी करने की माँग की थी। आज उसी माँग को वापस दोहरा रहा हूँ। 31 मार्च 2003 में प्रदेश पर कुल 20 हजार 147 करोड़ 34 लाख रूपये का कर्ज था। जो आज बढ़कर 1लाख 60 हजार करोड़ रूपये से भी अधिक की कगार पर है।
कमलनाथ ने कहा कि सरकार स्पष्ट करे कि:-
 प्रदेश पर कुल कितना कर्ज है?
 प्रदेश के हर नागरिक पर कितना औसतन कर्ज है?
 कर्ज की राशि का कहाँ उपयोग व खर्च हुआ?
 कुल कितने ब्याज का भार प्रदेश पर वर्तमान में है?
 बढ़ते कर्ज को देखते हुए फिजूलखर्ची रोकने के लिये
क्या उपाय सरकार द्वारा अभी तक किये गये हैं?

via

श्री नाथ ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह इन सवालों का जवाब देते हुए प्रदेश पर बढ़ते कर्ज को लेकर शीघ्र श्वेत पत्र जारी करंे ताकि सारी वास्तविकता स्पष्ट हो सके।

ससम्मान प्रकाशनार्थ (नरेन्द्र सलूजा)
श्रीमान संपादकजी मीडिया समन्वयक

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com