Breaking News

चुनाव के समय कहीं भाजपा को रुला ना दे महंगा होता प्याज

Posted on: 20 Oct 2018 17:29 by Ravindra Singh Rana
चुनाव के समय कहीं भाजपा को रुला ना दे महंगा होता प्याज

आगामी माह में 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव होने वाले है। जिसके बाद आने वाले वर्ष में लोकसभा चुनाव होंगे। लेकिन प्याज की बढती कीमतें मोदी सरकार को रुला सकती है। क्योंकि हर आम आदमी प्याज का उपयोग करता है बीते 10 दिनों में प्याज की कीमतें दूगनी हो गई है। इससे पहले भी प्याज की बढती महंगाई के चलते एनडीए की सरकार चली गई थी।

मोदी सरकार ने राजधानी दिल्ली में प्याज के बढ़ते दामों को देखते हुए सहकारी संस्था नेफेड को प्याज के बफर स्टॉक से इसकी आपूर्ति बढ़ाने का निर्देश जारी किए है। इसके साथ ही मदर डेयरी को उसकी सफल ब्रांड दुकानों पर प्याज का भाव 2 रुपए प्रति किलो की कमी करने की बात कही गई है।

बड़े महानगरों में प्याज की कीमतों की बात करें तो लगभग तीस से चालीस रूपये प्रति किलो हो गई है। प्याज व्यापारियों के अनुसार प्याज की खेती करने वालों राज्यों की ओर से सप्लाई में कमी आ गई है, इसीलिए प्याज की थोक कीमतें 20 रुपये प्रति किलो हो गई।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com