फिर रुलाएगा प्याज, थोक मंडी में 37 फीसदी बढ़े दाम

किसानों के विरोध प्रदर्शन के कारण मंडियों में प्याज की आपूर्ति में काफी अड़चन आ रही है। इससे प्याज की थोक कीमत 37 फीसदी तक बढ़ गई है।

0
19
onion

नई दिल्ली: देश में बढ़ रही प्याज की कीमतों का किसान विरोध कर रहे है। इसी बीच प्याज एक बार फिर रुलाने वाला है। प्याज के बढ़ते दामों का महाराष्ट्र के नासिक में किसानों द्वारा विरोध किया जा रहा है। किसानों के विरोध प्रदर्शन के कारण मंडियों में प्याज की आपूर्ति में काफी अड़चन आ रही है। इससे प्याज की थोक कीमत 37 फीसदी तक बढ़ गई है।

थोक मंडी में प्याज की कीमतें बढ़ने से बाजार में और भाव बढ़ने की आशंका है। दो हफ्ते में प्याज की थोक कीमत उंचे स्तर पर पहुंच गई है। प्याज की कीमत पिछले कुछ हफ्तों से काफी ऊंची है, ऐसे में थोक कीमत बढ़ने से और मुसीबत खड़ी हो सकती है।

नासिक की लासलगांव मंडी में सोमवार को प्याज की कीमत 37.29 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गई है। बिजनेस स्टैंडर्ड अखबार के अनुसार, लासलगांव में प्याज की आपूर्ति में 137 टन तक की गिरावट आई है, जो इस साल का सबसे कम स्तर है। बता दे कि यह एशिया की सबसे बड़ा हाजिर प्याज बाजार है।

कृषि पैदावार विपणन समिति के चेयरमैन जयदत्त सीताराम होल्कर ने कहा कि ‘प्याज आपूर्ति की स्थिति अब काफी बदल गई है। किसानों के पास अब पिछले सीजन का बहुत कम प्याज बचा है। बहुत ज्यादा बारिश और मॉनसून लंबा खिंचने से इस बार के पैदावार को काफी नुकसान हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here