Breaking News

बस एवं टैक्सी मालिकों का एक दिवसीय सम्मलेन सम्पन्न

Posted on: 22 Jun 2019 18:50 by Surbhi Bhawsar
बस एवं टैक्सी मालिकों का एक दिवसीय सम्मलेन सम्पन्न

इंदौर: पब्लिक ट्रांसपोर्ट व्यवसाय प्रगति कर सके इसके प्रयास के लिए बस एवं टैक्सी ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ़ एम पी के एक दिवसीय सम्मलेन का आयोजन आज (22 जून 2019) ब्रिलिएंट कन्वेंशन सेंटर, इंदौर में संपन्न हुआ। यह मध्य प्रदेश में पहली बार हुआ है कि इतने बड़े पैमाने पर पब्लिक ट्रांसपोर्ट व्यवसायी एकत्रित हुए। लगभग 500 से ज्यादा सदस्य इस सम्मलेन में उपस्थित थे जिसमें सभी तरह के पब्लिक ट्रांसपोर्टेशन में काम करने वाले स्टेक होल्डर्स, टैक्सी ओनर्स, स्कूल बस सर्विस प्रोवाइडर्स , शादी और इवेंट के लिए कॉन्ट्रैक्ट कैरिज की बस के ऑपरेटर्स, टूर बस ऑपरेटर, इंटर स्टेट बस ऑपरेटर, कॉन्ट्रैक्ट कैरिज ऑपरेटर्स और स्टेज कैरिज ऑपरेटर्स इत्यादि शामिल हुए।

इस सम्मेलन में पब्लिक ट्रांसपोर्ट व्यवसाय से जुड़ी तरह – तरह की चुनौतियां, संभावनाएं एवं इस व्यवसाय को अगले स्तर पर ले जाने के बारे में चर्चा हुई। इसी सम्मलेन में 5 वर्ष पहले बनी एक राष्ट्रीय संस्था बस एंड टैक्सी ऑपरेटर्स कॉनफेडरेशन ऑफ़ इंडिया (BOCI) के दो वर्ष में एक बार होने वाले राष्ट्रीय अधिवेशन ‘प्रवास’ में मध्यप्रदेश के प्रतिनिधित्व और तैयारियों पर भी चर्चा की गई।

इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि – संस्था के चैयरमेन श्री के टी राजशेखर, (एस.आर.एस ट्रेवल्स, बेंगलुरु) ने कहा, ” पब्लिक ट्रांसपोर्ट को बढ़ावा देने के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण होना चाहिए। पब्लिक ट्रांसपोर्ट विषय के बारे में न्याय व्यवस्था, सरकारी विभागों में काम करने वाले अधिकारियों को पर्याप्त जानकारी और समझ न होने की वजह से कुछ गलत फैसले ले लिए जाते हैं जिससे पब्लिक ट्रांसपोर्ट बेहतर होने की बजाय और कमज़ोर हो जाता है। इसलिए इस विषय के बारे में न्यायपालिका प्रणाली से लेकर आम जनता और ऑपरेटर्स तक जागरूकता बढ़ाना बहुत ज़रूरी है।”

संस्था के प्रेसिडेंट श्री प्रसन्न पटवर्द्धन (पर्पल मोबिलिटी एवं प्रसन्न ट्रेवल्स, पुणे) ने 25 से 27 जुलाई को मुंबई में होने वाले आगामी कार्यक्रम “प्रवास” के बारे में बताया ” इस कार्यक्रम का उद्देश्य यह पब्लिक ट्रांसपोर्ट से जुड़े मैनुफैक्चरर्स, ऑपरेटर्स, गवर्नमेंट ऑफिसर्स, फाइनेंशियल इंस्टिट्यूट, एनजीओ और व्यवसाय से परोक्ष और अपरोक्ष रूप से जुड़े सभी लोगों को एकत्रित करना है।

‘प्रवास’ के तीन भाग होंगे। पहले भाग में कॉन्फ्रेंस होगी जिसमें सभी लोग अपना ज्ञान साझा करेंगे, जागरूकता बढ़ाएंगे और पब्लिक ट्रांसपोर्ट के विकास पर चर्चा करेंगे।

दूसरे हिस्से में अवार्ड सेरेमनी होगी जिसमें देश के जितने भी पब्लिक या प्राइवेट ऑपरेटर्स ने अच्छा कार्य किया है, उन्हें सम्मानित कर अवार्ड दिया जाएगा।

तीसरा हिस्सा एग्जीबिशन का होगा जिसमें अलग-अलग देशों से कई कंपनियां अपना प्रोडक्ट डिस्प्ले करेंगी और विभिन्न प्रकार की स्कीम्स लेकर आएगी।

‘प्रवास’ के 3 दिवसीय कार्यक्रम में ऑपरेटर्स को एक ही जगह पर विभिन्न प्रकार के प्रोडक्ट देखने, समझने, व्यावसायिक निर्णय लेने एवं उन्हें खरीदने का अवसर मिलेगा।”

बस एवं टैक्सी ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ़ एम पी के पदाधिकारी श्री हरि दुबे, श्री बृजमोहन राठी एवं श्री अनिल भावसार ने इस प्रादेशिक सम्मलेन के बारे में बताया कि यह सम्मलेन पब्लिक ट्रांसपोर्ट व्यवसाय की प्रगति की तरफ एक सामूहिक कदम था। पब्लिक ट्रांसपोर्ट व्यवसाय कई समस्याओं से लगातार जूझता रहा है जैसे इंधन के बदलते या लगातार बढ़ती लागत और तेज़ी से घटता मुनाफ़ा, पैसेंजर्स को मिलने वाली सुविधा, पढ़े – लिखे, पेशेवर और प्रशिक्षित ड्राइवर्स की समस्या या सड़क पर होने वाली छोटी बड़ी दुर्घटना और ऐसी कई कठिनाइयों का दौर सतत जारी है। इन कठिनाइयों को पार कर हमें अपने व्यवसाय को अगले स्तर पर ले जाने की सख्त आवश्यकता है।

कुछ महत्त्वपूर्ण बिंदु जिन पर सम्मलेन में चर्चा हुई:

  • पब्लिक ट्रांसपोर्ट व्यवसाय के विकास पर चर्चा।
  • पब्लिक ट्रांसपोर्ट के उपयोग को बढ़ाने के लिए बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण हो।
  • हम अपने निकटतम देश चीन से कम से कम 10 गुना पीछे हैं, आज जिस जगह पर हम खड़े है उससे कम से कम 10 गुना आगे हमें जाना है।
  • सरकार के साथ समन्वय पर यानि पब्लिक ट्रांसपोर्ट व्यवसायी सरकार से क्या अपेक्षा रखते हैं, और दूसरी और सरकार उनसे क्या चाहती है।
  • इस व्यवसाय में कई प्रकार की टूरिस्ट बसें, नगर परिवहन , स्कूल – कॉलेज, शादी, पिकनिक, धार्मिक/ तीर्थ यात्राओं, इवेंट के लिए कॉन्ट्रैक्ट कैरिज ऑपरेटर्स, टूर बस ऑपरेटर, इंटर स्टेट बस ऑपरेटर, टैक्सी ओनर्स और अन्य कई प्रकार की बसें हैं जिनकी बहुत सारी सामान्य समस्याएं / परेशानियां है, उन समस्याओं को सरकार के सामने रखकर उसे दूर करना।
  • ​सरकार द्वारा विश्व भर में पब्लिक ट्रांसपोर्ट को बढ़ावा मिल रहा है। छोटे वाहनों से ज्यादा पब्लिक ट्रांसपोर्टेशन का उपयोग दुनिया भर में हो रहा है।
  • ​हमारे पास बहुत बड़ी चुनौती ईंधन की है, जो वैसे भी हमारे पास कम मात्रा में है और आयात करने के कारण तुलनात्मक रूप से बहुत महँगा भी है।
  • ​सरकार चाहती है कि कम से कम प्रदूषण हो, हमने अपनी समझ तैयार नहीं की और अपने प्रयासों को सही तरीके से सही दिशा में आगे नहीं बढ़ाया तो हमारी आने वाली पीढ़ी प्रदुषण से बहुत परेशान होगी।
  • ​पूरे प्रदेश के सारे जिलों से आगामी ‘प्रवास’ कार्यक्रम में भी पब्लिक ट्रांसपोर्ट व्यवसायियों का प्रतिनिधित्व हो।
  • ​यात्रियों में इस व्यवसाय और इससे जुड़े लोगों, चालक व परिचालकों के प्रति नकारात्मक छवि है, उसे कैसे सुधारा जाये, इस पर चर्चा हुई।
  • ​इस व्यवसाय में नई टेक्नोलॉजी आ रही है तो यह समस्याएं धीरे-धीरे दूर होगी और हमारा भी यह प्रयास है की हम ड्राईवर और कंडक्टर को प्रशिक्षित करें एवं उनके व्यवहार में सुधार हो इस दिशा में हम कार्य करने की सोच रहे हैं।
  • ​पब्लिक ट्रांसपोर्ट व्यवसाय सीधा जनता से जुड़ा है तो आज के समय के अनुसार, पैसेंजर्स को हमसे क्या उम्मीदें हैं, इस पर भी चर्चा की गई, हम उन्हें कैसे बेहतर सुविधा प्रदान कर सके।“

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com