नई सरकार बनते ही फिर उठा राम मंदिर का मुद्दा, साधु-संत आज लेंगे बड़ा फैसला

0
16
ramm-mandir

नई सरकार बनते ही अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का मुद्दा एक बार फिर गर्मा गया है। अयोध्या में संत समाज ने एक बार फिर मोर्चा संभालते हुए एक बड़ी बैठक रखी है। मणिराम दास छावनी में होने वाली बैठक की अध्यक्षता रामजन्मभूमि न्यास अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास करेंगे।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस बैठक संत समाज राम मंदिर निर्माण को लेकर कोई बड़ा फैसला कर सकता है। इसमें कई बड़े साधु-संत और हिंदू संगठन के पदाधिकारी शामिल होंगे। बताया जा रहा है कि विश्व हिंदू परिषद के नेता भी बैठक में शामिल होंगे।

संत समिति के अध्यक्ष महंत कन्हैया दास, रामजन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य डॉ रामविलास दास वेदांती, रामवल्लभा कुंज के अधिकारी राजकुमार दास, दशरथ महल के बिंदुगद्दाचार्य, रंगमहल के महंत रामशरण दास, लक्ष्मणकिलाधीश महंत मैथिली शरण दास, बड़ा भक्तमाल के महंत अवधेश दास बैठक में शामिल होकर राम मंदिर निर्माण को लेकर चर्चा करेंगे और सरकार पर दबाव बनाने की कोशिश करेंगे।

इधर, वहीं द्वारका-शारदापीठ एवं ज्योतिषपीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानन्द सरस्वती ने दोबारा मोदी सरकार बनने के बाद उसे पिछला वादा याद दिलाते हुए रविवार को मथुरा में कहा कि अब इस सरकार को अयोध्या में भव्य एवं दिव्य राम मंदिर की स्थापना करने का वादा जरूर पूरा करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here