आयकर की नजर अब रेल्वे कर्मचारियों पर…

0
10

इंदौर। शुक्रवार को इंदौर रीजन के चीफ इनकम टैक्स कमिश्नर अजय कुमार चौहान का चार व्यापारिक संगठनों ने अभिनंदन किया। अपने अभिनंदन के प्रत्युत्तर में उन्होंने इंदौर के करदाताओं का धन्यवाद करते हुए कहा कि इंदौर जैसा माहौल देश में कहीं नहीं है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि इस वर्ष इंदौर रीजन ने 2257 करोड़ रुपए का टैक्स कलेक्शन किया, जो पिछले वर्ष की तुलना में 580 करोड़ ज्यादा है। यह ग्रोथ रेट 34.17 प्रतिशत रही, जो देश में नंबर वन है। इसके साथ ही चौहान ने कहा कि अगले साल इससे ज्यादा लक्ष्य है, वह भी पूरा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि लक्ष्य पूरा करने के लिए नये करदाताओं को जोडऩे के लिए कैम्प लगाएंगे। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों रतलाम जाना हुआ, तो पता चला कि रतलाम रेल मंडल में सारे कर्मचारियों की तनख्वाह 50 हजार के करीब है, हम वहां जाकर कैम्प लगाएंगे और लोगों को टैक्स देने के लिए प्रेरित करेंगे। इसके अलावा इनकम टैक्स इंफोर्समेंट स्कीम भी बनाई है, जो जल्द लागू की जाएगी।

आपको बता दें कि सफाई में देश में नंबर वन बनने के बाद पिछले असेसमेंट ईयर में आयकर का भुगतान करने में भी इंदौर रीजन नंबर वन आया है। सीबीडीटी द्वारा इंदौर आयकर रीजन की ग्रोथ 34.17 फीसदी बताई है, जो देश में सबसे ज्यादा है। इंदौर रीजन की इस उपलब्धि पर पहली बार चार व्यापारिक संगठनों ने इनकम टैक्स के चीफ कमिश्नर अजय कुमार चौहान का अभिनंदन किया।

व्यापारियों की पीड़ा भी बताई
अहिल्या चेम्बर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष रमेश खंडेलवाल ने इस मौके पर कहा कि जब चौहान साहब की इंदौर में पोस्टिंग हुई थी, तब उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान टैक्स कलेक्शन के लिए व्यापारियों को बड़े ही मीठे अंदाज में धमकी दी थी, जिसकी व्यापारिक क्षेत्रों में यह प्रतिक्रिया हुई थी, कि स्वागत के साथ उन्होंने बातों ही बातों में धमकी भी दी। खंडेलवाल ने कहा कि हालांकि एक बात यह भी प्रचलित है कि नींबू में से रस निकालने के लिए नींबू निचोडऩा पड़ता है, लेकिन चौहान के मार्गदर्शन और निर्देशन में इंदौर रीजन ने सबसे ज्यादा टैक्स कलेक्शन किया है, यह गर्व की बात है।

कोई चोरी करे और खुलेआम घूमे, यह नहीं चलेगा
आयकर आयुक्त ने खंडेलवाल की बात का बड़े ही रोचक अंदाज में तर्क के साथ जवाब दिया कि हमने नींबू नहीं निचोड़ा, लेकिन कोई टैक्स चोरी करके खुले आम घूमेगा, यह भी नहीं चलेगा। हमने इतने बड़े रीजन में महज 40-50 लोगों पर कार्रवाई की और 2-3 लोगों को जेल हुई। इसके अलावा टैक्स रेवेन्यू जो बढ़ा है वह लोगों ने स्वेच्छा से डायरेक्ट टैक्स और रेग्युलर में दिया है। चौहान ने कहा कि हमने राजस्व लक्ष्य पाने के लिए रीजन में 400 से ज्यादा कैम्प लगाएं और लोगों को टैक्स देने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने टैक्स रेवेन्यू कलेक्शन करने में 34 फीसदी ग्रोथ रेट मिलने का क्रेडिट टैक्स पेयर और इनकम टैक्स के अफसरों को दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here