राखी की थाली में राखी ही नहीं इन्हें भी दे जगह, मिलेगा सफलता और सौभाग्य का वरदान

सिर्फ राखी ही अपने भाई की मंगल कामना के जरुरी नहीं हैं और भी कई ऐसी चीजें है जो कि आपकी राखी की थाल में होना चाहिए।

0
140

रक्षाबंधन का त्योहार भाई बहन के प्यार दुलार का पर्व हैं। इस साल यह पर्व 15 अगस्त के दिन आ रहा हैं। कई बहनों ने तो अब तक अपने प्यारे भाइयों के लिए राखी खरीद भी ली हैं लेकिन सिर्फ राखी ही अपने भाई की मंगल कामना के जरुरी नहीं हैं और भी कई ऐसी चीजें है जो कि आपकी राखी की थाल में होना चाहिए। रक्षा बंधन का पर्व मनाने से पहले बहनों को कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना चाहिए। राखी की थाली सजाने से पहले बहनों को इस बात की जानकारी अवश्य होनी चाहिए कि, थाली में क्या रखे और क्या नहीं।

इन चीजों से होती है राखी की थाल संपूर्ण

1- कुमकुम

राखी के दिन भाई की आरती उतारने के साथ ही बहनें उन्हें कुमकुम का तिलक लगाती हैं। इसलिए राखी की थाली में कुमकुम का होना जरूरी होता है। इसका संबंध सूर्य ग्रह से होता है। भाई की तरक्की के लिए थाली में कुमकुम अवश्य रखें।

2- रक्षासूत्र

थाली में रक्षासूत्र रखकर ही भाई की आरती उतारें। बहनें अपने भाई को सिर्फ दाहिने हाथ में ही रक्षासूत्र बांधे क्योंकि ये आने वाली मुश्किल परिस्थियों में भाई की रक्षा करता है।

3- मिठाई

पूजा की थाली में मिठाई भी रखें। आरती उतारने और राखी बांधने के बाद भाई को मिठाई अवश्य खिलाएं, इससे भाई पर हमेशा लक्ष्मी की कृपा बनी रहेगी। इससे भाई के वैवाहिक जीवन में भी खुशियां आएंगी और संतान सुख मिलेगा।

4- श्रीफल

राखी की थाली में श्रीफल (नारियल) अवश्य रखें। कहते हैं श्रीफल से भाई-बहन को जीवन में हर प्रकार की सुख सुविधाएं मिलती है।

5- दीपक

राखी की थाली में दीपक रखने के बाद ही भाई की आरती उतारे क्योंकि इससे भाई के जीवन में आने वाले सभी कष्ट दूर होंगे। दीपक का संबंध शनि और केतु ग्रह से जोड़कर देखा गया है।

6- कलश

जल भरे कलश को चंद्रमा माना गया है। भाई की मानसिक शांति के लिए जरूरी है कि बहनें पानी भरे कलश से भाई की पूजा-अर्चना करें।

7- चावल

पूजा की थाली में चावल रखना शुभ माना जाता है। तिलक लगाने के बाद बहनें अपने भाई के तिलक पर चावल के कुछ दाने लगती हैं, जिसका संबंध शुक्र ग्रह से माना गया है। इससे भाई-बहनों का प्रेम हमेशा बना रहता है।

राखी का शुभ मुहूर्त

राखी बांधने का शुभ मुहूर्त इस बार 15 अगस्त को सुबह 5ः 49 मिनट से शुरू होगा। इस शुभ मुहूर्त से लेकर बहनें अपने भाई शाम 6ः01 बजे तक राखी बांध सकती हैं। वैसे, सुबह 6 से 7.30 बजे, और सुबह 10.30 बजे से दोपहर 3 बजे तक राखी बांधने का सबसे अच्छा मुहूर्त है। वैसे तो इस बार राखी पर पूरा दि नही शुभ माना जा रहा हैं और इसका कारण हैं कि इस बार कई सालों के बाद यह पहली बार होगा जब राखी के मौके पर भद्रा का साया नहीं होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here