Breaking News

दिनेश शर्मा ही नहीं, मोदी सहित बीजेपी के ये नेता भी दे चुके है ऐसा ज्ञान

Posted on: 02 Jun 2018 05:58 by Surbhi Bhawsar
दिनेश शर्मा ही नहीं, मोदी सहित बीजेपी के ये नेता भी दे चुके है ऐसा ज्ञान

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा अपने बयान को लेकर इन दिनों काफी सुर्खियों में बने हुए है। पत्रकारिता दिवस पर मथुरा में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने माता सीता पर बेतुका बयान दे दिया था। उन्होंने कह था कि सीता जी जन्म मिट्टी के बर्तन में हुआ था, यानी उस समय भी टेस्ट ट्यूब से बच्चे पैदा करने का चलन था। साथ ही उन्होंने कहा कि सीता जी भी टेस्ट ट्यूब बेबी हो सकती हैं।इतना ही नहीं उन्होंने महाभारत का भी बखान किया था और नारद मुनि को पहला पत्रकार बताया था। लेकिन आपको बता दे कि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब ऐसा बेतुका सामने आया है। दिनेश शर्मा से पहले भी बीजेपी के कई दिग्गज नेता ऐसे बयान दे चुके है। ख़ास बात तो ये है कि इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल है। आईए आपको बताते है किसा नेता ने दिया कैसा बयान-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
मोदी ने गणेश जी को लेकर अपना बयान दिया है। साल 2014 में एक निजी अस्पताल के उद्घाटन के दौरान उन्होंने कहा था कि ‘दुनिया को प्लास्टिक सर्जरी का कौशल भारत की देन है। दुनिया में सबसे पहले गणेश जी की प्लास्टिक सर्जरी हुई थी, जब उनके सिर की जगह हाथी का सिर लगा दिया गया था।’बिप्लव देब
त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लव देब अपने बयानों को लेकर काफी चर्चा में है। उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान कहा था कि महाभारत काल में भी इंटरनेट था। संजय ने हस्तिनापुर में बैठकर धृतराष्ट्र को बताया था कि कुरुक्षेत्र के मैदान में क्या हो रहा है। इसका मतलब है कि उस समय भी तकनीक, इंटरनेट और सैटेलाइट था।ज्ञानदेव आहूजा
राजस्थान से बीजेपी विधायक ज्ञानदेव आहूजा ने हनुमानजी को आदिवासी नेता बता दिया था।आहूजा ने कहा, ‘इस धरती पर प्रथम आदिवासी नेता हनुमान हुए हैं। सबसे ज्यादा मंदिर भी हनुमान जी के हैं, हमें उनका असम्मान नहीं करना चाहिए।’ यही नहीं, गोहत्या को लेकर विवादित बयान देते हुए उन्होंने कहा था कि गोहत्या और गाय की तस्करी में शामिल लोगों को भी जानवरों की तरह मार दिया जाना चाहिए।इतना ही नहीं उन्होंने JNU को लेकर भी विवादित बयान दिया था। उन्होंने जेएनयू में रोज 3000 कंडोम मिलने का दावा किया था। यही नहीं अहूजा तो जेएनयू कैंपस में रोजाना 50 हजार हड्डी के टुकड़े, 500 इस्तेमाल किए हुए अबॉर्शन इंजेक्शन हर रोज 10 हजार सिगरेट के बट मिलने का दावा भी कर चुके हैं।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com